होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /लोक संस्कृति संवर्धन प्रोजेक्ट को लेकर सीएम जयराम से मिले लोक गायक इंद्रजीत सिंह

लोक संस्कृति संवर्धन प्रोजेक्ट को लेकर सीएम जयराम से मिले लोक गायक इंद्रजीत सिंह

सीएम जयराम ठाकुर से मुलाकात के दौरान गायक इंद्रजीत.

सीएम जयराम ठाकुर से मुलाकात के दौरान गायक इंद्रजीत.

Himachal News: इंद्रजीत सिंह मूलतः कुल्लू जिला की लगवैली के रहने वाले हैं और इनके पिता नोख राम कुल्लू कोर्ट में स्टाम व ...अधिक पढ़ें

मंडी. हिमाचल प्रदेश की समृद्ध लोक संस्कृति के संरक्षण और संवर्धन के लिए प्रसिद्ध हिमाचली लोकगायक इंदरजीत ने  मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से शिष्टाचार भेट की। इस दौरान मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने पहाड़ी लोक संस्कृति के प्रचार प्रसार के लिए लोकगायक इंदरजीत के प्रयासों की जमकर सराहना की. उन्होंने उनसे आग्रह किया कि हिमाचल प्रदेश स्थापना  वर्ष से लेकर अब तक की लंबी विकास यात्रा को भी वे अपने अंदाज में पारम्परिक गीत संगीत के माध्यम से देश विदेश तक पहुंचाने का प्रयास करें. उन्होंने कहा कि आजकल हम प्रगतिशील हिमाचल का 75वां वर्ष कार्यक्रम पूरे प्रदेश में मना रहे हैं. इसमें अवधि में एक लंबी विकास यात्रा हमने तय की है.

ऐसे में हमारी समृद्ध लोक संस्कृति की जो अब तक की यात्रा है उसे भी नई पीढ़ी तक पहुंचाना आवश्यक है. उन्होंने कहा कि बहुत से हिमाचली कलाकारों ने संगीत के क्षेत्र में बहुत सराहनीय काम किया है. कुछ और कलाकारों से भी बात चल रही है. हम मिलकर हिमाचली लोक संस्कृति को संजोने और बढ़ावा देने के लिए काम करने जा रहे हैं. इस दौरान लोकगायक इंदरजीत ने भी अपने नए प्रोजेक्ट पर मुख्यमंत्री से चर्चा की. उन्होंने बताया कि जल्द वे कुल्लू के 18 करडू देवी देवता पर एल्बम लांच करने जा रहे हैं, जिसका प्रोमो उन्होंने मुख्यमंत्री जी को दिखाया. मुख्यमंत्री ने इसकी प्रशंसा करते हुए उन्हें अग्रिम बधाई और शुभकामनाएं दीं.

कौन हैं इंद्रजीत सिंह

इंद्रजीत सिंह मूलतः कुल्लू जिला की लगवैली के रहने वाले हैं और इनके पिता नोख राम कुल्लू कोर्ट में स्टाम वैंडर हैं जबकि माता लीला देवी गृहिणी हैं. इंद्रजीत पहाड़ी गायक हैं और कुल्लू सहित हिमाचल के दूसरे इलाकों में इनके गाने काफी चर्चित हुए हैं.

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें