Home /News /himachal-pradesh /

हिमाचल के दो प्राइवेट स्कूलों ने माफ की 2 माह की फीस, स्टॉफ को मिलेगी पूरी सैलरी

हिमाचल के दो प्राइवेट स्कूलों ने माफ की 2 माह की फीस, स्टॉफ को मिलेगी पूरी सैलरी

कोरोना वायरस का असर भारत की शिक्षा व्यवस्था पर भी पड़ा है.

कोरोना वायरस का असर भारत की शिक्षा व्यवस्था पर भी पड़ा है.

स्कूल प्रबंधन बच्चों को मुफ्त में ऑनलाईन पढ़ाई भी करवा रहा है. इसके लिए स्कूल ने अपनी एक वेबसाइट और एप भी बनाई है, जिसमें सारा सिलेबस डाला गया है.

मंडी. कोरोना और लॉकडाउन (Corona and Lockdown) के चलते हिमाचल सरकार (Himachal) की तरफ से सभी स्कूलों को फीस न लेने का फरमान सुनाया गया है, लेकिन कुछ निजी स्कूल अभिभावकों से फीस मांग रहे हैं. ऐसे में मंडी के दो स्कूलों ने लीक से हटकर नजीर पेश की है. सोशल मीडिया पर इन दिनों निजी स्कूलों को लेकर लोग खुलकर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं. अधिकतर अभिभावक लिख रहे हैं कि निजी स्कूल ऑनलाईन स्टडी के नाम पर फीस उगाही करने में लगे हुए हैं. निजी स्कूलों (Private School) की लगातार हो रही फजीहत के बीच मंडी और चंबा जिला के दो निजी स्कूलों ने काबिल-ए-तारीफ निर्णय लिया है. इन दोनों स्कूलों का संचालन कांगड़ा जिला के नगरोटा सूरियां निवासी पुरिंद्र राणा करते हैं.

मंडी और चंबा के स्कूल
मंडी जिला की कोटली तहसील के फागला गांव में गुरूकुल पब्लिक स्कूल और चंबा जिला के सिहुंता उपमंडल के समोठ गांव में भारतीय पब्लिक स्कूल के नाम से निजी स्कूलों का संचालन किया जा रहा है. यह दोनों स्कूल ग्रामीण क्षेत्रों में मौजूद हैं और इनमें 550 बच्चे शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं.

दोनों स्कूलों का संचालन कांगड़ा जिला के नगरोटा सूरियां निवासी पुरिंद्र राणा करते हैं.
दोनों स्कूलों का संचालन कांगड़ा जिला के नगरोटा सूरियां निवासी पुरिंद्र राणा करते हैं.


दस लाख का बोझ पड़ेगा
पुरिंद्र राणा ने बताया कि उनके स्कूलों में अधिकतर ऐसे अभिभावकों के बच्चे हैं जो मजदूरी करके अपना गुजारा चलाते हैं. ऐसे में लॉक डाउन की स्थिति में इनपर कोई आर्थिक बोझ न पड़े, इसी उद्देश्य से दो महीनों की फीस माफ करने का निर्णय लिया गया है. दो महीनों की फीस माफ करने और लॉक डाउन के दौरान सैलरी देने पर स्कूल प्रबंधन को साढ़े 10 लाख की राशि का अतिरिक्त खर्च वहन करना पड़ेगा, जिसे स्कूल प्रबंधन अपने स्तर पर करने जा रहा है.

सैलरी में नहीं होगी कटौती
पुरिंद्र राणा ने बच्चों की फीस माफी के साथ ही एक और अहम निर्णय भी लिया है. इन्होंने लॉक डाउन के दौरान अध्यापकों और अन्य कर्मचारियों की सैलरी को न काटने का ऐलान किया है. दो महीनों तक स्कूल बंद रहेंगे और फीस भी नहीं ली जाएगी, लेकिन अध्यापकों और कर्मचारियों को उनकी सैलरी बीना किसी रूकावट के मिलती रहेगी.

मुफ्त में ऑनलाईन पढ़ाई
स्कूल प्रबंधन बच्चों को मुफ्त में ऑनलाईन पढ़ाई भी करवा रहा है. इसके लिए स्कूल ने अपनी एक वेबसाइट और एप भी बनाई है, जिसमें सारा सिलेबस डाला गया है. बच्चों के अभिभावकों को सभी अध्यापकों के नंबर दिए गए हैं यदि किसी विषय से संबंधित कोई जानकारी चाहिए हो तो सीधे अध्यापकों से संपर्क किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें: पत्नी ने जहर खा दी जान, तो नाइट ड्यूटी लौटे कॉन्सटेबल पति ने लगा लिया फंदा

हिमाचल में कोरोना के दो और शिकार, पत्रकार और युवक पॉजिटिव, 35 हुए कुल केस

मंडी: वेंटिलेटर सुविधा न मिलने से डिलीवरी के बाद नवजात बच्चे की मां की मौत

Tags: Corona, Corona positive, Himachal pradesh, Mandi, Private School

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर