• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • Mandi By-elections: टिकट के दावेदारों में शामिल हुए जेपी नड्डा के करीबी चमन कपूर

Mandi By-elections: टिकट के दावेदारों में शामिल हुए जेपी नड्डा के करीबी चमन कपूर

अब नगर परिषद मनाली के अध्यक्ष और मूलतः मंडी जिला के सरकाघाट क्षेत्र निवासी 55 वर्षीय चमन कपूर का नाम उपचुनाव में भाजपा के टिकट के प्रवल दावेदारों में शामिल हो गया है.

अब नगर परिषद मनाली के अध्यक्ष और मूलतः मंडी जिला के सरकाघाट क्षेत्र निवासी 55 वर्षीय चमन कपूर का नाम उपचुनाव में भाजपा के टिकट के प्रवल दावेदारों में शामिल हो गया है.

Mandi By Elections: चमन कपूर का कहना है कि वे खुद को किसी भी पद का दावेदार नहीं, बल्कि पार्टी का एक सेवक मानते हैं. उन्होंने बताया कि वे पार्टी के साथ सन 1992 से जुड़े हैं और लगातार पार्टी के लिए कार्य कर रहे हैं.

  • Share this:

मंडी. हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले में संसदीय चुनाव (Mandi By-Elections) होना है. इसके लिए सरगर्मियां बढ़ी हैं. टिकट के तलबगार भी बढ़ते जा रहे हैं. नाम-दर-नाम सामने आ रहे हैं. अब नगर परिषद मनाली के अध्यक्ष और मूलतः मंडी जिला के सरकाघाट क्षेत्र निवासी 55 वर्षीय चमन कपूर का नाम उपचुनाव में भाजपा के टिकट के प्रबल दावेदारों में शामिल हो गया है. कुछ दिन पहले भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा (JP Nadda) के कुल्लू दौरे के दौरान चमन कपूर को जो ईशारा मिला था, उसके बाद से चमन कपूर इन दिनों राजनीतिक गलियारों में चर्चा का विषय बन गए हैं. मंडी (Mandi) से लेकर कुल्लू-मनाली तक चमन कपूर के नाम की चर्चा चली हुई है. हालांकि, इस चर्चा का निष्कर्ष तो भविष्य में निकलेगा, लेकिन टिकट के जो प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं, उनमें चमन कपूर का नाम भी शामिल हो गया है.

लोकसभा उपचुनाव में भाजपा का टिकट उसी को ही मिलेगा जो नड्डा और जयराम दोनों की पसंद होगा. चमन कपूर के इन दोनों के साथ ही पारिवारिक और घनिष्ठ संबंध हैं. इसके अलावा चमन कपूर की अमित शाह के साथ नजदीकियां भी किसी से छिपी नहीं हैं. वहीं, ये चेहरा एक ऐसा चेहरा भी है, जिसका मंडी और कुल्लू दोनों जिलों से नाता है. क्योंकि मंडी उनकी जन्मभूमि है और मनाली कर्मभूमि है.

कुल्लू दौरे के दौरान नड्डा दे गए थे संकेत
कुछ दिन पहले जब भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा कुल्लू दौरे पर आए थे तब उनके दौरे को लेकर अटकलें लगाई गई थी कि वे चुप चाप प्रत्याशी का चयन करके चले गए हैं. इन सभी समीकरणों को चमन कपूर के साथ जोड़कर देखा जा रहा है, शायद इसी वजह से चर्चाएं तेज हो गई हैं.

नगर परिषद मनाली में लगातार चौथी जीत
चमन कपूर नगर परिषद मनाली में लगातार चौथी बार जीत दर्ज करके पहुंचे हैं. चारों बार चमन ने अलग-अलग वार्ड से चुनाव लड़ा और जीता. 2010 में पार्टी सिंबल पर चुनाव हुए थे तो चमन भाजपा के टिकट पर सीधे उपाध्यक्ष चुनकर आए थे. इस बार भी भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ा और मौजूदा समय में नगर परिषद मनाली के अध्यक्ष पद पर आसीन हैं.

मैं दावेदार नहीं, पार्टी का सेवक
चमन कपूर का कहना है कि वे खुद को किसी भी पद का दावेदार नहीं, बल्कि पार्टी का एक सेवक मानते हैं. उन्होंने बताया कि वे पार्टी के साथ वर्ष 1992 से जुड़े हैं और लगातार पार्टी के लिए कार्य कर रहे हैं. पार्टी ने जब भी उन्हें कोई जिम्मेदारी दी, उसे उन्होंने हमेशा पूरा करने का प्रयास किया. भविष्य में भी पार्टी जो जिम्मेदारी देगी उसे पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ निभाने का प्रयास रहेगा. टिकट मांगना हर कार्यकर्ता का अधिकार है और उसी के तहत मैंने भी टिकट के लिए अपना आवेदन पत्र भेजा है. मंडी मेरी जन्मभूमि और कुल्लू मनाली मेरी कर्मभूमि है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज