लाइव टीवी

मंडी: वर्षों से खराब पड़ी घंटाघर की घड़ियों को कार मैकेनिक सन्नी ने किया दुरुस्त

Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: January 18, 2020, 3:15 PM IST
मंडी: वर्षों से खराब पड़ी घंटाघर की घड़ियों को कार मैकेनिक सन्नी ने किया दुरुस्त
मंडी शहर के ऐतिहासिक घंटाघर की घड़ियों में कार मैकेनिक ने नई जान डाल दी है.

मंडी शहर के इस घंटाघर (Clock Tower) की घड़ियों को ठीक करवाने के लिए कई बार कोलकाता से लाखों रुपये खर्च करके कारीगर बुलाने पड़े हैं. हालांकि इस बार घंटाघर की घड़ियों को एक कार मैकेनिक (Car Mechanic) ने ठीक कर दिया है.

  • Share this:
मंडी. वर्षों से खराब पड़ी मंडी शहर के ऐतिहासिक घंटाघर की घड़ियों में कार मैकेनिक (Car Mechanic) ने नई जान डाल दी है. मंडी शहर (Mandi City) के इस घंटाघर की घड़ियों (Clock) को ठीक करवाने के लिए कई बार कोलकाता से लाखों रुपये खर्च करके कारीगर बुलाने पड़े हैं. हालांकि इस बार घंटाघर की घड़ियों को एक कार मैकेनिक ने ठीक कर दिया है. मंडी शहर के साथ लगते ब्राधीवीर में कार मैकेनिक का काम करने वाले सन्नी ने यह कार्य कर दिखाया है.

सन्नी 32 सालों से कार मरम्मत का कर रहा है काम

सन्नी मूलतः मंडी शहर के मंगवाई का रहने वाला है और पिछले 32 सालों से कार मैकनिक का कार्य कर रहा है. दरअसल, सन्नी कार से पहले घड़ियों की मरम्मत का कार्य करता था. सन्नी की तमन्ना थी कि वह शहर के ऐतिहासिक घंटाघर को ठीक करने में अपना योगदान दे सके. सन्नी कि यह तमन्ना नगर परिषद तक पहुंची और परिषद ने भी सन्नी को घड़ियों ठीक करने का मौका दिया.

sunny
सन्नी मूलतः मंडी शहर के मंगवाई का रहने वाला है और पिछले 32 सालों से कार मैकनिक का कार्य कर रहा है.


घड़ियों को दुरुस्त करके सन्नी को हो रही है आनंद की अनुभूति

सन्नी ने ऐतिहासिक घंटाघर के सारे मैकेनिज्म को समझा और इसका मर्ज ढूंढ निकाला. मर्ज का समाधान करते ही घड़ी की सुइयां दौड़ने लग गईं. घड़ियों ने सही समय दिखाना शुरू कर दिया है. सन्नी ने बताया कि उसे घंटाघर को ठीक करके आनंद महसूस हो रहा है. घंटाघर में जो भी छोटी—मोटी कमी रही होगी, उसे भी जल्द ही दूर कर दिया जाएगा. उन्होंने भविष्य में भी घंटाघर के लिए इसी तरह से अपनी सेवाएं देने की बात कही है.

कोलकाता से कारीगर बुलाकर पूरी तरह कराया जाएगा दुरुस्तवहीं, नगर परिषद की अध्यक्ष सुमन ठाकुर ने घंटाघर को ठीक करने के लिए सन्नी का आभार जताया. उन्होंने बताया कि घंटाघर की घड़ियां ​सही तरीके से टिक, टिक करती रहे. हालांकि इन घड़ियों को कोलकाता से कारीगर बुलाकर पूरी मरम्मत करवाई जाएगी. अगर जरूरत हुई तो कलपुर्जे भी बदले जाएंगें ताकि घंटाघर सही तरह से काम करे और जनता को सही समय बताए.

शहर के बीचोंबीच स्थित है घंटाघर

बता दें कि ऐतिहासिक घंटाघर मंडी शहर का लैंड मार्क है. इसी से देश-विदेश में मंडी शहर की पहचान होती है. यह घंटाघर मंडी शहर के बीचोंबीच बनी इंदिरा मार्केट में स्थित है. लंबे समय से घड़ियां बंद होने के कारण लोग मायूस थे, लेकिन उनकी मायूसी दूर हो गई है.

यह भी पढ़ें: कजिन की एंगेजमेंट में शामिल होने मंडी पहुंची बॉलीवुड क्वीन कंगना रणौत

हिमाचल BJP के अध्यक्ष बने डॉ. राजीव बिंदल, कहा- पार्टी को आगे ले जाऊंगा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मंडी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 18, 2020, 3:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर