• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • MANDI MANDI CM JAIRAM RAMESH ANNOUNCED TO PROVIDE DEAD BODY VEHICLE TO THE PERSON WHO DIED FROM CORONA VIRUS NODMK8

कोरोना संक्रमण से मृत लोगों के शव को नि:शुल्क उनके घर पहुंचाएगी हिमाचल सरकार

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि कोरोना की वजह से मरे लोगों की डेड बॉडी को उनके घर तक पहुंचाने के लिए नि:शुल्क डेड बॉडी वैन उपलब्ध करवाया जाएगा (फाइल फोटो)

मंडी में जिला स्तरीय समीक्षा बैठक में सीएम जयराम ठाकुर (Jairam Thakur) ने कहा कि सरकार ने कोरोना संक्रमण (Corona Virus) की वजह से मृत्यु हुई सभी लोगों के पार्थिव देह को उनके घर तक नि:शुल्क पहुंचाने का निर्णय लिया है ताकि विपदा की इस घड़ी में उनके परिजनों को परेशानी न झेलनी पड़े

  • Share this:
मंडी. हिमाचल प्रदेश सरकार कोरोना संक्रमित मरीजों की मृत्यु (Corona Death) होने पर उनके पार्थिव देह (Dead Body) को उनके पैतृक घर तक पहुंचाने के लिए नि:शुल्क डेड बॉडी वैन मुहैया करवाएगी. मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (Jairam Thakur) ने मंगलवार को मंडी में आयोजित कोरोना (Corona Virus) की जिला स्तरीय समीक्षा बैठक को संबोधित करते हुए यह घोषणा की. उन्होंने बताया कि सरकार इससे पहले शहरी क्षेत्रों से संबंध रखने वाले कोरोना संक्रमित मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए मुफ्त लकड़ी उपलब्ध करवा रही है. वहीं, अब सरकार ने ऐसे सभी मृतकों के पार्थिव देह को उनके घर तक नि:शुल्क पहुंचाने का निर्णय लिया है ताकि विपदा की इस घड़ी में उनके परिजनों को परेशानी न झेलनी पड़े.

इसके अलावा, मुख्यमंत्री जयराम ने प्रदेश के सभी चुने हुए विधायकों से आग्रह किया कि वो कोरोना से मृत सभी लोगों के अंतिम संस्कार में अपनी तरफ से हर संभव मदद मुहैया करवाएं. उन्होंने कहा कि यह संकट अलग प्रकार का संकट है और इसमें सभी को अपनी अहम भागीदारी निभाने की जरूरत है. साथ ही उन्होंने होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों की भी हरसंभव मदद करने को कहा और फोन पर उनका हालचाल पूछने का आग्रह किया. सीएम जयराम ने अन्य जनप्रतिनिधियों से भी इस दिशा में कार्य करने का आह्वान किया

इस बैठक में राज्य के जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर, स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल, विधायक अनिल शर्मा, कर्नल इंद्र सिंह, इंद्र सिंह गांधी, राकेश जम्वाल, जवाहर ठाकुर, हीरा लाल, डीसी मंडी ऋग्वेद ठाकुर और एसपी मंडी शालिनी अग्निहोत्री सहित अन्य उच्चाधिकारी भी मौजूद रहे.