बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ : हिमाचल का मंडी देश में सबसे अव्वल, 7 अगस्त को मिलेगा पुरस्कार

बेटियों के प्रति समाज को जागरूक करने में मंडी जिला देश भर में अव्वल आंका गया है. इसके लिए जिला को आगामी 7 अगस्त को पुरस्कार देकर सम्मानित किया जाएगा.

Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 28, 2019, 7:27 AM IST
बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ : हिमाचल का मंडी देश में सबसे अव्वल, 7 अगस्त को मिलेगा पुरस्कार
लड़कियों की शिक्षा, सुरक्षा, स्वास्थ्य, सम्मान, स्वाभिमान और अधिकारों को लेकर जागरूकता बढ़ाने के लिए काम किया जा रहा है.
Virender Bhardwaj
Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 28, 2019, 7:27 AM IST
बेटियों के प्रति समाज को जागरूक करने में मंडी जिला को देश भर में अव्वल आंका गया है. भारत सरकार के महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने मंडी जिला को अव्वल आंका है. इसके लिए जिला को आगामी 7 अगस्त को पुरस्कार देकर सम्मानित किया जाएगा. एक वर्ष के अंतराल में इस अभियान के तहत जिला को यह दूसरा पुरस्कार मिलने जा रहा है. बता दें कि भारत सरकार के बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान को मंडी जिला में शुरू हुए अभी एक साल भी नहीं हुआ है. इस छोटे से अंतराल में ही यह जिला इस अभियान के तहत दूसरा राष्ट्रीय पुरस्कार लेने जा रहा है.

 'मेरी लाडली’ अभियान से हुई थी शुरुआत

बता दें कि जब देश में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान की शुरूआत हुई थी तो उस वक्त मंडी जिला को इसमें शामिल नहीं किया गया था. लेकिन जिला प्रशासन ने 'मेरी लाडली’ अभियान को अपने स्तर पर शुरू करके नई शुरूआत की और कुछ नया करके दिखाया. 7 अक्तूबर 2018 को सीएम जयराम ठाकुर ने मंडी जिला में इस अभियान को विधिवत रूप से शुरू किया.

भारत सरकार के महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने जिला को इस अभियान में प्रभावी जनसहभागिता के लिए देश भर में अव्वल आंका. 24 जनवरी 2019 को डीसी मंडी ऋग्वेद ठाकुर को दिल्ली में इसके लिए राष्ट्रीय पुरस्कार दिया गया. अब एक बार फिर से जिला को इस अभियान के तहत बेहतर जागरूकता फैलाने में देश भर में अव्वल आंका गया है. एडीसी मंडी आशुतोष गर्ग ने इस पुरस्कार के लिए पूरे जिला की जनता को बधाई दी है. उन्होंने कहा कि जनता के सहयोग से ही इस अभियान का जिला में सही ढंग से संचालन हो पा रहा है.

गांव-गांव में फैलायी गई जागरूकता

बता दें कि जिला में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत लैंगिक असंतुलन को दूर करने के लिए पूर्ण प्रतिबद्धता से कार्य करने के साथ-साथ लड़कियों की शिक्षा, सुरक्षा, स्वास्थ्य, सम्मान, स्वाभिमान और अधिकारों को लेकर जागरूकता बढ़ाने के लिए काम किया जा रहा है. इसके लिए प्रशासन ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के तहत स्त्री अभियान के माध्यम से महिला मंडलों का सहयोग लेकर गांव-गांव में काम किया है.

1008 कन्याओं का सामूहिक पूजन
Loading...

7 अगस्त को दिल्ली में दिया जाएगा मंडी जिला को यह पुरस्कार


इस बार अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि मेले के दौरान पहली बार सेरी मंच पर 1008 कन्याओं का सामूहिक पूजन का कार्यक्रम कर पुरातन संस्कृति को बेटियों की सुरक्षा से जोड़ने की कवायद की गई. प्रशासन की इस पहल ने बड़े पैमाने पर लोगों का समर्थन और तारीफ बटोरी. इसके अलावा महिला मंडलों, स्कूल प्रबंधन समितियों, सर्व देव समाज संघ और पंचायती राज संस्थानों के प्रतिनिधियों की भागीदारी से गांव-गांव जागरूकता कार्यक्रमों की श्रृंखला आयोजित की गई है. सरकारी कार्यक्रमों में नवजात बच्चियों के अभिभावकों को बधाई पत्र एवं उपहार देकर सम्मानित व प्रोत्साहित करने पर जोर दिया गया है.

ये भी पढ़ें - हिमाचल: ‌BJP नेत्री-नेता के अश्लील वीडियो वायरल केस में FIR

ये भी पढ़ें - रिश्ते हुए शर्मसार: 50 साल के ससुर ने बहू के साथ किया रेप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मंडी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 28, 2019, 7:21 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...