Politics of Himachal: CM के खास और आजाद चुनाव लड़े पाल वर्मा बने मंडी जिला परिषद अध्यक्ष

सीएम जयराम ठाकुर के साथ पाल वर्मा.

सीएम जयराम ठाकुर के साथ पाल वर्मा.

Mandi Jila Parishad President Elections: कांग्रेस नेता कौल सिंह ठाकुर की बेटी चंपा ठाकुर और उनकी बहन जागृति राणा, माकपा और निर्दलियों समेत 8 पार्षदों ने वाकआउट कर दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 29, 2021, 5:18 PM IST
  • Share this:
मंडी. हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (Himachal Pradesh) की गृहजिले में मंडी जिला परिषद के अध्यक्ष की कमान बल्ह के भड़ियाल सीट से बागी चुनाव जीते पाल वर्मा को सौंपी गई है. दरअसल, उन्हें सीएम जयराम (CM Jairam Thakur) का करीबी माना जाता है, लेकिन चुनाव में भाजपा ने उन्हें आधिकारिक तौर पर अपना प्रत्याशी नहीं घोषित किया था, जबकि पूर्व में वह भाजयुमो अध्यक्ष भी रहे थे. इसके अलावा, बासा वार्ड से चुनाव जीते मुकेश चंदेल को उपाध्यक्ष बनाया है. वह नाचन मंडल के महामंत्री हैं और विद्यार्थी परिषद और संघ से जुड़े रहे हैं

रेस में और कौन थे

अध्यक्ष पद की दौड़ में भाजपा के वरिष्ठ मंत्री महेंद्र सिंह की बेटी वंदना गुलेरिया और संघ के वरिष्ठ कार्यकर्ता बिहारी लाल भी शामिल थे, लेकिन देर रात तक चले मंथन में इनके नामों पर सहमति नहीं बन सकी. बाद में फैसला सीएम पर छोड़ा गया था. मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने अपने खासमखास पाल वर्मा का नाम प्रस्तुत किया, जिसपर सहमति बन गई. बता दें कि सीएम जयराम ठाकुर बीते दो दिन से मंडी दौरे पर थे.

Youtube Video

भ्यूली में हुआ समारोह

शुक्रवार को जिला परिषद भवन भ्यूली में शपथ ग्रहण समारोह हुआ. इस दौरान डीसी मंडी ने सभी 36 सदस्यों को शपथ दिलाई और निर्वाचन प्रक्रिया शुरू हुई. स्योग वार्ड से जीती कौल सिंह ठाकुर की बेटी चंपा ठाकुर और उनकी बहन जागृति राणा, माकपा और निर्दलियों समेत 8 पार्षदों ने वाकआउट कर दिया. इन्होंने सरकार पर सरकारी तंत्र का दुरुपयोग करने, पार्षदों को हाइजैक करने के आरोप लगाए. हालांकि, इससे खासा फर्क नहीं पड़ा और अध्यक्ष-उपाध्यक्ष का चुनाव हो गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज