• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • असम में तैनात सैनिक की हृदय गति रुकने से मौत, पैतृक गांव में हुआ अंतिम संस्कार

असम में तैनात सैनिक की हृदय गति रुकने से मौत, पैतृक गांव में हुआ अंतिम संस्कार

सैनिक संतोष कुमार 1985 में आसाम राइफल में भर्ती हुए थे.

सैनिक संतोष कुमार 1985 में आसाम राइफल में भर्ती हुए थे.

मणिपुर (Manipur) में अपनी सेवाएं दे रहे सरकाघाट क्षेत्र के एक सैनिक (Soldier) की दिल का दौरा (Heart Attack) पड़ने से मौत हो गई. संतोष कुमार वर्ष 1985 में आसाम राइफल (Assam rifle) में भर्ती हुए थे और वर्तमान में मणिपुर (Manipur) में तैनात थे.

  • Share this:
    मंडी. मणिपुर में अपनी सेवाएं दे रहे सरकाघाट क्षेत्र के एक सैनिक (Soldier) की दिल का दौरा (Heart Attack) पड़ने से मौत हो गई. संतोष कुमार पुत्र बंशी राम निवासी सुलपुर सरकाघाट असम में भारतीय सेना की मेडिकल कोर में सैनिक अस्पताल (Military hospital) में तैनात थे. संतोष कुमार वर्ष 1985 में आसाम राइफल (Assam rifle) में भर्ती हुए थे और वर्तमान में मणिपुर (Manipur) में तैनात थे.  परिजनों के अनुसार बीते रोज दोपहर तीन बजे संतोष ने अपनी पत्नी से फोन पर बात की थी. बातचीत के दौरान संतोष ने तबीयत खराब होने और दवाई लेने की बात बताई थी, लेकिन फिर उनकी तबीयत बिगड़ने लगी और उन्हें सैनिक अस्पताल में भर्ती करवाया गया. शाम को पत्नी ने एक बार फिर फोन पर संपर्क करने की कोशिश की और अस्पताल के डॉक्टर ने फोन उठाकर संतोष कुमार की हालत गंभीर होने की जानकारी दी. एक घंटे बाद करीब सात बजे संतोष कुमार की पत्नी को फोन पर संतोष कुमार के निधन की जानकारी दी गई.

    सभी की आंखें नम हो गई

    सूचना मिलते ही संतोष कुमार के परिजन असम के लिए रवाना हो गए और शनिवार को मृतक सैनिक संतोष का शव उनके पैतृक गांव लाया गया. शनिवार सुबह
    क्षेत्र में मृतक सैनिक संतोष कुमार का शरीर पहुंचते ही इलाके में सभी लोगों की आंखें नम हो गई. संतोष कुमार के घर में लोगों का जमावड़ा लग गया.

    पैतृक गांव में हुआ अंतिम संस्कार

    मृतक संतोष के शव के साथ आए भारतीय सेना के सूबेदार सोहन लाल ने कहा कि सैनिक की मौत अचानक ह्रदय गति रुकने के कारण हो गई. उन्होंने कहा कि संतोष कुमार मृत्यु वाले दिन सुबह पीटी और भोजन करने के बाद कमरे में मौजूद थे. इसी दौरान उन्हें हार्ट अटैक हुआ और फिर उन्हें बचाया नहीं जा सका. सोहन लाल ने कहा कि शनिवार सुबह मृतक सैनिक संतोष कुमार का पर्थिव शरीर को उनके पैतृक गांव पहुंचा कर अंतिम संस्कार किया गया. मृतक संतोष को उनके बेटे विक्रांत चंदेल ने मुखाग्नि दी.

    (सुंदरनगर से नितेश सैनी की रिपोर्ट)

    ये भी पढ़ें - हिमाचल के CM जयराम ठाकुर पीजीआई चंडीगढ़ में भर्ती

    ये भी पढ़ें - नाबालिग बनी मां, युवक के खिलाफ POCSO Act के तहत अपहरण व दुष्कर्म का मामला दर्ज

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज