होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /जनवरी 2020 तक देश के टॉप 100 स्वच्छ शहरों में शामिल होगा मंडी

जनवरी 2020 तक देश के टॉप 100 स्वच्छ शहरों में शामिल होगा मंडी

मात्र 6 महीने में लक्ष्य प्राप्ति की तरफ बढ़ेंगे नगर परिषद मंडी के कदम

मात्र 6 महीने में लक्ष्य प्राप्ति की तरफ बढ़ेंगे नगर परिषद मंडी के कदम

मंडी शहर को 6 महीनों के छोटे से अंतराल में देश भर के टॉप 100 शहरों में शामिल करने का लक्ष्य नगर परिषद ने तय किया है. यह ...अधिक पढ़ें

    मंडी शहर (Mandi) को 6 महीनों के छोटे से अंतराल में देश भर के टॉप 100 शहरों (Top 100 cities) में शामिल करने का लक्ष्य नगर परिषद (City Council) ने तय किया है. यह लक्ष्य सिर्फ तय ही नहीं किया गया बल्कि इसे पूरा करने के लिए शपथ भी नगर परिषद ने ग्रहण कर ली है. अभी मंडी शहर देश भर के शहरों में 806वें (Mandi city at 806th position) पायदान पर है. शुक्रवार को डीसी मंडी ऋग्वेद ठाकुर की अध्यक्षता में आयोजित नगर परिषद की बैठक में यह लक्ष्य तय किया गया. डीसी मंडी ने बताया कि शहर को पूरी तरह से साफ और स्वच्छ बनाने के साथ एक सुगम और सुविधाजनक शहर बनाया जाएगा. कूड़े का सही ढंग से निपटारा (garbage disposal) सुनिश्चित किया जाएगा और सिवरेज की बची हुई समस्या का जल्द से जल्द समाधान किया जाएगा.

    News18 Hindi
    अभी देश भर में 806वें स्थान पर है छोटी काशी कहा जाने वाला मंडी शहर


    इंदौर के नक्शे कदमों पर चलेगा मंडी शहर

    उन्होंने कहा कि इसके लिए नगर परिषद जनसहभागिता के साथ पूरे शहर में अभियान चलाएगी. उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश का इंदौर शहर (Indore city of Madhya Pradesh) पिछले तीन सालों से देश भर में अव्वल आंका जा रहा है. ऐसे में इस शहर की अच्छी आदतों को मंडी शहर अपनाएगा और टॉप 100 शहरों की श्रेणी में शामिल होने के लिए मिलकर काम किया जाएगा.

    वहीं नगर परिषद मंडी की अध्यक्षा सुमन ठाकुर ने मंडी शहर को स्वच्छ एवं सुंदर बनाने की प्रतिबद्धता दोहराई. उन्होंने इसके लिए नगर परिषद द्वारा उठाए गए कदमों से अवगत करवाया. उन्होंने कहा कि स्वच्छता इंडेक्स (Cleanliness Index) में ऊंचे पायदान पर आने के लिए नगर परिषद सभी शहरवासियों को साथ लेकर पूरे समर्पण से काम करेगी. उन्होंने अपने अपने वार्डों में स्वच्छता को लेकर पार्षदों की प्रतिबद्धता की तारीफ की. शहर में जो घर अभी सीवरेज लाइन (Sewerage line) से नहीं जुड़े हैं उन्हें जोड़ने का काम जल्द शुरू होगा. आईपीएच विभाग ने इसके लिए टेंडर मंगवा लिए हैं.

    बैठक में एडीसी मंडी आशुतोष गर्ग, प्रशिक्षु आईएएस अजय यादव, नगर परिषद उपाध्यक्ष वीरेंद्र भट्ट सहित सभी पार्षद, कार्यकारी अधिकारी बी.आर.नेगी एवं अन्य अधिकारी, स्वच्छता समिति के सदस्य और बड़ी संख्या में शहरवासी मौजूद रहे.

    ये भी पढ़ें - "सरकार नए परिवारों को भी देना चाहती है BPL का लाभ"

    ये भी पढ़ें - बिलासपुर पुलिस का खुलासा,हिमाचल में कोई बच्चा चोर गिरोह नहीं

    Tags: Himachal pradesh news, Mandi, Swachhta Abhiyaan

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें