COVID-19: मंडी जोनल अस्पताल में प्रो-नेट टेस्ट में महिला मरीज निकली पॉजिटिव
Mandi News in Hindi

COVID-19: मंडी जोनल अस्पताल में प्रो-नेट टेस्ट में महिला मरीज निकली पॉजिटिव
मंडी जोनल अस्पताल की नर्स पहले ही पॉजिटिव पाई गई है.

प्रो-नेट टेस्ट कोरोना की त्वरित जांच का एक सरल माध्यम है. यदि इसमें किसी की रिपोर्ट नेगेटिव आती है तो उस व्यक्ति को नेगेटिव ही माना जाता है, लेकिन यदि प्रो-नेट टेस्ट में किसी की रिपोर्ट पाजिटिव आती है तो ऐसी स्थिति में संभावित का सैंपल मुख्य लैब में दोबारा जांच के लिए भेजा जाता है.

  • Share this:
मंडी. हिमाचल प्रदेश के जोनल अस्पताल मंडी (Zonal Hospital) के गायनी वार्ड में स्टाफ नर्स के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद यहां पर उपचारधीन एक महिला मरीज भी प्रारंभिक जांच में कोरोना पॉजिटिव पाई गई है. उक्त महिला की 3 दिन पहले ही जोनल अस्पताल मंडी में सर्जरी (surgery) हुई है, जिसमें उसकी रसौली को निकाला गया है. इसके बाद महिला की सर्जरी करने वाले डाक्टर और अन्य स्टाफ को क्वारंटीन कर दिया गया है.

स्टाफ नर्स (Staff Nurse) के पाजिटिव आने के बाद बीती रात को गायनी वार्ड के सभी उपचाराधीन मरीजों के प्रोनेट टेस्ट किए गए, जिसमें एकमात्र महिला मरीज कोरोना पॉजिटिव पाई गई. रात करीब 3 बजे इस महिला को लाल बहादुर मेडिकल कालेज नेरचैक शिफ्ट कर दिया है, जहां पर महिला का उपचार जारी है.

दोबारा होगी सैंपल की जांच



महिला को दोबारा कोरोना सैंपल लिया गया है, जिसकी अंतिम रिपोर्ट आने के बाद ही आगामी कार्रवाही की जाएगी. जोनल अस्पताल मंडी के गायनी वार्ड और आपरेशन थियेटर को सेनेटाइज कर दिया गया है और यहां पर अब केवल एमरजेंसी वाले केस ही डील किए जा रहे हैं. जोनल अस्पताल मंडी के चिकित्सा अधिक्षक डाक्टर डीएस वर्मा ने इसकी पुष्टि की है.
क्या होता है प्रो-नेट टेस्ट

प्रो-नेट टेस्ट कोरोना की त्वरित जांच का एक सरल माध्यम है. यदि इसमें किसी की रिपोर्ट नेगेटिव आती है तो उस व्यक्ति को नेगेटिव ही माना जाता है, लेकिन यदि प्रो-नेट टेस्ट में किसी की रिपोर्ट पाजिटिव आती है तो ऐसी स्थिति में संभावित का सैंपल मुख्य लैब में दोबारा जांच के लिए भेजा जाता है. इसके बाद मुख्य लैब से आने वाली कोरोना की रिपोर्ट को अंतिम रिपोर्ट माना जाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading