धोखाधड़ी: हेल्थ कार्ड बनाने के नाम पर 400 से ज्यादा लोगों से वसूले पैसे, सालभर बाद भी नहीं मिले कार्ड

हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले में देवभूमि के भोलेभाले लोगों का स्वास्थ्य कार्ड बनाने के नाम पर धोखाधड़ी करने का बड़ा मामला सामने आया है.

Nitesh Saini | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 28, 2019, 8:18 AM IST
धोखाधड़ी: हेल्थ कार्ड बनाने के नाम पर 400 से ज्यादा लोगों से वसूले पैसे, सालभर बाद भी नहीं मिले कार्ड
मंडी जिले के सुंदरनगर में हेल्थ कार्ड बनाने के नाम पर लोगों से ठगी को अंजाम दिया गया है.
Nitesh Saini
Nitesh Saini | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 28, 2019, 8:18 AM IST
हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले में देवभूमि के भोलेभाले लोगों का स्वास्थ्य कार्ड बनाने के नाम पर धोखाधड़ी करने का बड़ा मामला सामने आया है. यह मामला मंडी के उपमंडल सुंदरनगर की ग्राम पंचायत जयदेवी का है. शातिर लोगों ने एचपी यूनिवर्सल हेल्थ प्रोटेक्शन स्किम (स्वास्थ्य कार्ड) बनाने के नाम पर पंचायत के करीब 400 से अधिक लोगो के साथ 1 लाख 50 हजार रूपए से अधिक की धोखाधड़ी को अंजाम दिया गया है. इस धोखााधड़ी के बाद लोग अपने आप को ठगा हुआ महसूस कर रहे है. इस बारे में जानकारी देते हुए ग्राम पंचायत जयदेवी निवासी जीवानंद व मुकेश कुमार ने कहा कि शातिर बदमाश द्वारा जयदेवी पंचायत भवन में इस पूरी धोखाधड़ी की घटना को अंजाम दिया गया है.

सालभर पहले वसूले थे प्रति व्यक्ति 410 रुपये

Health card-हेल्थ कार्ड
एक वर्ष पहले ग्राम पंचायत जयदेवी में एक व्यक्ति ने एचपी यूनिवर्सल हैल्थ स्किम के तहत 400 लोगों के हेल्थ कार्ड बनाने के लिए 410 रूपए लिए थे.


उन्होंने कहा कि अगस्त 2018 में आरोपी दिनेश कुमार ने जयदेवी पंचायत के प्रधान शोभाराम से दूरभाष के माध्यम से संपर्क किया और एचपी यूनिवर्सल हैल्थ प्रोटेक्शन स्किम के तहत पंचायत के लोगों के स्वास्थय कार्ड बनाने की बात कही. उन्होंने कहा कि इस पर तुरंत प्रधान शोभाराम ने पंचायत के लोगों को आधार कार्ड के साथ पंचायत भवन में पहुंंचने के आदेश दिए. उन्होंने कहा कि पंचायत प्रधान के साथ अन्य लोगों की देखरेख में प्रति व्यक्ति 410 रूपए लिए गए और लोगों को एचपी यूनिवर्सल हैल्थ प्रोटेक्शन स्किम के तहत जल्द ही स्वास्थ्य कार्ड बनाए जाने की बात कही गई.

अभी तक सिर्फ 80 लोगों को ही मिले हैं कार्ड

उन्होंने कहा कि इस हेेेल्थ कार्ड के माध्यम से परिवार के पांच सदस्यों को प्रति वर्ष 5 लाख तक का मुफ्त इलाज दिया जाना था, लेकिन कुछ समय बाद पंचायत के मात्र 80 लोगों को कार्ड उपलब्ध हुआ. वहीं अन्य लोगों को लगभग एक साल से अधिक का समय बीत जाने के बाद भी आज तक कार्ड उपलब्ध नहीं हो पाया है. इसको लेकर पंचायत वासियों ने कई बार पंचायत प्रधान शोभाराम से बात की गई लेकिन हर बार जल्द ही उक्त व्यक्ति से संपर्क करने का रटा रटाया जबाब मिलता रहा.

कानूनी कार्रवाई अमल में लाने की गुहार लगाई 
Loading...

उन्होंने कहा कि आजतक उक्त व्यक्ति से न ही कोई संपर्क हो पाया न ही कोई कार्रवाई अमल में लाई गई है. स्थानीय लोगों ने प्रसाशन और सरकार से उक्त व्यक्ति के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई अमल में लाने की गुहार लगाई है.

पंचायत सचिव को नहीं थी हेल्थ कार्ड बनाने की कोई सूचनाी

इस मामले की जानकारी देते हुए एसडीएम सुंदरनगर राहुल चौहान ने बताया को लेकर ग्राम पंचायत जयदेवी प्रधान शोभाराम से जानकारी मिली. पंचायत सचिव को हेल्थ कार्ड बनाने को लेकर कोई सूचना नहीं थी. एक वर्ष पहले ग्राम पंचायत जयदेवी में एक व्यक्ति ने एचपी यूनिवर्सल हैल्थ स्किम के तहत 400 लोगों के हेल्थ कार्ड बनाने के लिए 410 रूपए लिए थे. लेकिन एक वर्ष का समय बीत जाने के बाद भी मात्र 80 पंचायत वासियों केे ही कार्ड बन पाए है.

प्रधान के मुताबिक आरोपी व्यक्ति सुंदरनगर की मलोह पंचायत का रहने वाला है,जिसका नाम दिनेश कुमार है और उसके पिता का नाम सेवक राम है. इस मामले की जानकारी जुटाई जा रही है और जल्द ही आरोपी के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी.

यह भी पढ़ें: कुल्लू अस्पताल को मिलेगा नेशनल क्वालिटी सर्टिफिकेट

बीएसलएल नहर में मिला 20 वर्षीय मोहित का शव
First published: July 28, 2019, 8:16 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...