• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • पहले आम चुनाव प्रचार के लिए मंडी आए थे नेहरू, भीड़ में धक्के खाते हुए मंच पर पहुंचे

पहले आम चुनाव प्रचार के लिए मंडी आए थे नेहरू, भीड़ में धक्के खाते हुए मंच पर पहुंचे

पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू और AIMMS के पहले डायरेक्टर डी डी दीक्षित के साथ पहली स्वास्थ्य मंत्री राजकुमारी अमृत कौर.

पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू और AIMMS के पहले डायरेक्टर डी डी दीक्षित के साथ पहली स्वास्थ्य मंत्री राजकुमारी अमृत कौर.

देश को आजादी मिलने के पांच साल बाद यानि 1952 में पहला लोकसभा का चुनाव हुआ था. उस वक्त मंडी संसदीय क्षेत्र में प्रचार करने देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू आए थे.

  • Share this:
देश को आजादी मिलने के पांच साल बाद यानि 1952 में पहला लोकसभा का चुनाव हुआ था. आज देश 17वीं लोकसभा के चुनाव के लिए तैयार बैठा है. पहले लोकसभा चुनाव हुए थे तब उस वक्त मंडी संसदीय क्षेत्र में प्रचार करने देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू आए थे. नेहरू ने सुरक्षा कर्मियों को दरकिनार करके भीड़ से होकर जाना बेहतर समझा. उस समय देश भर में कांग्रेस पार्टी का ही बोलबाला था. देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू ने उस वक्त देश भर का भ्रमण करके पार्टी प्रत्याशियों के लिए वोट मांगे थे. उस दौरान पंडित नेहरू छोटी काशी के नाम से विख्यात मंडी शहर भी आए थे. यहां से कांग्रेस प्रत्याशी रानी अमृत कौर के लिए उन्होंने प्रचार भी किया और वोट भी मांगे. कृष्ण कुमार नूतन ने नेहरू की सभा कवर की थी. तब वे पत्रकारिता में सक्रिय थे.  कृष्ण कुमार नूतन मंडी से शक्ति नामक पत्रिका का प्रकाशन करते थे. अब वे 91 वर्ष की हो चुके हैं.

कृष्ण कुमार नूतन बताते हैं कि 1952 में जब नेहरू मंडी आए तो खलियार के पास उन्होंने अपनी गाड़ी रूकवा दी, क्योंकि यहां से आगे रास्ते के दोनों तरफ बड़ी संख्या में जनसमूह हाथों में फूल मालाएं लिए उनके स्वागत के लिए खड़ा था. विक्टोरिया पुल से होकर नेहरू जनता का अभिवादन स्वीकारते हुए चौहाटा बाजार तक पहुंचे. यहां भीड़ कुछ ज्यादा हो गई और लोग नेहरू से मिलने के लिए टूट पड़े.

नेहरू की सुरक्षा में तैनात कर्मियों ने लाठी चार्ज करने की सोची ही थी कि नेहरू ने उन्हें अपने पास बुलाकर ऐसी किसी भी कार्रवाही को करने से साफ इनकार कर दिया. कृष्ण कुमार नूतन बताते हैं कि नेहरू ने उस वक्त सुरक्षा कर्मियों से कहा था कि 'यह जनता है और अब इनका राज है, आप पीछे हट जाओ.’ इसके बाद भीड़ से घिरे नेहरू उसी भीड़ में धक्के खाते हुए ऐतिहासिक पड्डल मैदान पहुंचे थे.

यह भी पढ़ें: चौकीदार जयराम ठाकुर न करें चिंता, कांग्रेस जिताऊ प्रत्याशी उतारेगी: कुलदीप राठौर

कुल्लू के डीसी यूनुस ने की बड़ी कार्रवाई, इस प्ले स्कूल को बंद करने के दिए आदेश

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज