कोरोना की मार: मंडी में इस बार नहीं होगा देव कमरूनाग और पराशर ऋषि मेला
Mandi News in Hindi

कोरोना की मार: मंडी में इस बार नहीं होगा देव कमरूनाग और पराशर ऋषि मेला
मंडी की पराशर लेक. (FILE PHOTO)

देव कमरूनाग के पुजारी हेत राम ने बताया कि इस बार मेला नहीं होगा, लेकिन उस दिन जो रस्में निभाई जाती हैं उनका निर्वहन किया जाएगा. मंदिर कमेटी के कुछ लोग देव कमरूनाग के मूल स्थान पर जाकर पूजा-अर्चना करेंगे और परंपराओं को निभाएंगे

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
मंडी. कोरोना संकट (COVID-19) से विश्व भर में कोई भी अछूता नहीं है. इसके चलते इस बार देव कमरूनाग और पराशर ऋषि (Prashar Rishi Fair) के मेले नहीं होंगे. कोरोना वायरस (Corona Virus) के प्रकोप के चलते इन मेलों के आयोजन को रद्द कर दिया गया है. बता दें कि देव कमरूनाग को मंडी (Mandi) जनपद का आराध्य देव माना जाता है और इन्हें बड़ा देव के नाम से भी पुकारा जाता है. वहीं दूसरी तरफ पराशर ऋषि के मंदिर में भी उसी दिन मेले का आयोजन किया जाता है.

बहुत लोगों की है आस्था
इन दोनों वार्षिक मेलों के साथ लाखों लोगों की आस्था जुड़ी हुई है और हर वर्ष इन मेलों में लोगों का भारी हुजूम उमड़ता है, लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते केंद्र सरकार ने जो दिशा-निर्देश जारी किए हैं उसके तहत ऐसे किसी भी आयोजन को नहीं किया जा सकता जहां पर बड़ी संख्या में भीड़ इकट्ठी होनी हो. मंडी के डीसी ऋग्वेद ठाकुर ने बताया कि अभी तक सरकार के दिशा-निर्देशों के तहत मेलों का आयोजन संभव नहीं, जिसके चलते इन मेलों को आयोजित नहीं किया जा सकता.

14 जून को होता है मेला



बता दें कि इस वर्ष 14 जून को देव कमरूनाग और पराशर ऋषि के प्रांगण में मेला सजना था. एसडीएम गोहर अनिल भारद्वाज ने इस संदर्भ में देव कमरूनाग मंदिर कमेटी के साथ बैठक कर ली है. देव कमरूनाग के पुजारी हेत राम ने बताया कि इस बार मेला नहीं होगा, लेकिन उस दिन जो रस्में निभाई जाती हैं उनका निर्वहन किया जाएगा. मंदिर कमेटी के कुछ लोग देव कमरूनाग के मूल स्थान पर जाकर पूजा-अर्चना करेंगे और परंपराओं को निभाएंगे.



लोगों से न जाने की अपील
गोहर उपमंडल प्रशासन ने मेले के दौरान इन स्थानों पर लोगों को जाने से रोकने के लिए अभी से तैयारियां शुरू कर दी हैं. एसडीएम गोहर अनिल भारद्वाज ने बताया कि मेले के दौरान मंदिर को जाने वाले सभी रास्तों पर पुलिस और स्थानीय लोगों का पहरा बैठा दिया जाएगा, ताकि लोगों को आगे जाने से रोका जा सके. वहीं इन्होंने लोगों से भी इस महामारी को ध्यान में रखते हुए ऐसे स्थानों पर न जाने की अपील की है.

ये भी पढ़ें: OMG! शिमला में ओलावृष्टि के बीच गिरी आसमानी बिजली, पेड़ धराशायी, देखें VIDEO

जहर से बंदरों को मारने वाले हिमाचल में ‘गर्भवती हथिनी की हत्या’ पर मातम क्यों?
First published: June 4, 2020, 3:47 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading