Home /News /himachal-pradesh /

pandit sukhram cremation thousands of people gave their last farewell to their favorite leader with moist eyes hrrm

मंडी: पंडित सुखराम पंचतत्व में विलीन, हजारों लोगों ने नम आंखों से दी अपने चहेते नेता को अंतिम विदाई

ऐतिहासिक सेरी मंच पर करवाए गए दिवंग्त पंडित सुखराम के अंतिम दर्शन

ऐतिहासिक सेरी मंच पर करवाए गए दिवंग्त पंडित सुखराम के अंतिम दर्शन

Pandit Sukhram cremation: प्रो. धूमल ने कहा कि पंडित सुखराम वादे के पक्के थे. उन्होंने गठबंधन करके भाजपा की सरकार बनाने में अपना योगदान दिया था और पूरे पांच वर्षों तक सरकार को चलाने में भी सहयोग किया. हालांकि बहुत से लोगों ने उन्हें भड़काने का प्रयास किया लेकिन वो अपने वादे से कभी पीछे नहीं हटे.

अधिक पढ़ें ...

मंडी. संचार क्रांति के मसीहा और राजनीति के चाणक्य कहे जाने वाले पूर्व केंद्रीय संचार राज्य मंत्री पंडित सुखराम का पार्थिव शरीर पंचत्व में विलीन हो गया है. आज हनुमानघाट स्थित शमशानघाट पर दिवंग्त पंडित सुखराम का पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया. उनके बेटों और पोतों ने पार्थिव देह को मुखाग्नि दी. इससे पहले उनकी अंतिम यात्रा में जनसैलाब उमड़ पड़ा. सुबह करीब साढ़े दस बजे बाड़ी गुमाणू स्थित उनके निवास से उनकी अंतिम यात्रा शुरू हुई जिसमें बड़ी संख्या में परिजनों, रिश्तेदारों, नेताओं और उनके समर्थकों ने भाग लिया.

पंडित सुखराम की पार्थिव देह को ऐतिहासिक सेरी मंच पर दर्शनों के लिए रखा गया जहां आम लोगों सहित देश भर के नेताओं ने आकर उन्हें अपने श्रद्धासुमन अर्पित किए. सीएम जयराम ठाकुर भी श्रद्धांजलि देने यहां आए. उन्होंने पंडित सुखराम को श्रद्धासुमन अर्पित करने के बाद उनके बेटे अनिल शर्मा और पोते आश्रय व आयुष शर्मा को सांत्वना देकर ढांढस बंधाया.

जयराम ठाकुर ने कहा कि पंडित सुखराम ने देश और प्रदेश में जो संचार क्रांति लाई है उसे देश कभी नहीं भुला सकता. हिमाचल जैसे पहाड़ी प्रदेश के गांव-गांव तक उन्होंने टेलिफोन पहुंचाया जिससे प्रदेश में संचार क्रांति की लहर आई और लोगों को संवाद करना आसान हुआ. उन्होंने कहा कि प्रदेश ने एक महान नेता खोया है जिसकी कमी कभी पूरी नहीं की जा सकती.

इस मौके पर पूर्व सीएम प्रो. प्रेम कुमार धूमल भी श्रद्धा सुमन अर्पित करने सेरी मंच पहुंचे. उन्होंने अनिल शर्मा और आश्रय शर्मा को ढांढस बंधाया. प्रो. धूमल ने कहा कि पंडित सुखराम वादे के पक्के थे. उन्होंने गठबंधन करके भाजपा की सरकार बनाने में अपना योगदान दिया था और पूरे पांच वर्षों तक सरकार को चलाने में भी सहयोग किया. हालांकि बहुत से लोगों ने उन्हें भड़काने का प्रयास किया लेकिन वो अपने वादे से कभी पीछे नहीं हटे. उन्होंने कहा कि पंडित सुखराम की कमी को कभी पूरा नहीं किया जा सकता.

इस मौके पर भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सुरेश कश्यप, कैबिनेट मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर, सुरेश भारद्वाज, पूर्व मंत्री कौल सिंह ठाकुर, प्रकाश चौधरी और प्रदेश भर से आए कांग्रेस और भाजपा के कई विधायक व नेता मौजूद रहे. पूर्व मंत्री कौल सिंह ठाकुर ने कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्षा सोनिया गांधी की तरफ से पंडित सुखराम को श्रद्धांजलि अर्पित की.

Tags: Himachal news, Himachal Politics

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर