पीएम मोदी की नसीहत के बावजूद VIP कल्चर नहीं छोड़ रहे बीजेपी MLA

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अपने दूसरे कार्यकाल में सरकार बनते ही एनडीए की बैठक को संबोधित करते हुए आह्वान किया था कि देश को वीआईपी कल्चर से नफरत है और इससे बचना चाहिए.

Nitesh Saini | News18 Himachal Pradesh
Updated: June 6, 2019, 3:07 PM IST
पीएम मोदी की नसीहत के बावजूद VIP कल्चर नहीं छोड़ रहे बीजेपी MLA
विधायक की गाड़ी
Nitesh Saini
Nitesh Saini | News18 Himachal Pradesh
Updated: June 6, 2019, 3:07 PM IST
देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा वीआईपी कल्चर खत्म करने को लेकर चलाई गई मुहिम को प्रदेश के विधायक ही ठेंगा दिखा रहे हैं. हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अपने दूसरे कार्यकाल में सरकार बनते ही एनडीए की बैठक को संबोधित करते हुए आह्वान किया था कि देश को वीआईपी कल्चर से नफरत है और इससे बचना चाहिए.

वहीं मोटर व्हीकल एक्ट, सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट के भी स्पष्ट आदेश हैं कि किसी भी अनिधिकृत वाहन पर पदनाम, मुहर, विभागीय पद, धार्मिक संगठन, संस्था, प्रेस, आर्मी, पुलिस, डॉ. अधिवक्ता, राष्ट्रीय या राजकीय चिन्ह का उपयोग करना कानून अवैध है.

सुंदरनगर में विधायकों की गाड़ियां


इसके बावजूद ऊंची पहुंच के लोगों, अधिकारियों, राजनेताओं, मीडियाकर्मियो, एड्वोकेटस, ब्यूरोक्रेटस, संस्थाओं द्वारा स्टेटस सिंबल के लिए नेमप्लेट लगाकर व वाहनों पर पदनाम का उपयोग कर कानून को सरेआम नजरअंदाज किया जा रहा है.

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के बीते बुधवार को मंडी जिला के सुंदरनगर में स्वागत के दौरान कुछ इसी तरह का नजारा देखने को मिला. यहां लग्जरी वाहनों में सवार होकर विभिन्न क्षेत्रों से आए विधायकों की वीआईपी नंबर युक्त वाहनों की नंबर प्लेटों के साथ स्टेटस के लिए उनके पदनाम भी लिखे गए थे. वहीं कुछ एक ने वाहनों पर बकायदा स्टीकर चिपका रखे थे.

गौरतलब है कि इस सबंध में परिवहन विभाग पहले भी कई बार विभिन्न अथॉरिटीज को कार्रवाई के निर्देश दे चुका है. बावजूद इसके अनाधिकृत तौर पर पदनाम लिखे वाहनों को तादाद बड़ रही है.

यह भी पढ़ें: सुंदरनगर को नीदरलैंड बनाने की मुहिम फेल, शहर में चारों ओर फैला कचरा
Loading...

BJP के सतपाल सत्ती ने दिया विवादित बयान, चुड़ैल से कर डाली कांग्रेस की तुलना

PHOTOS: सुंदरनगर के कमांद में लगी आग, तीन भाइयों का 12 कमरों का मकान खाक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मंडी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 6, 2019, 2:36 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...