COVID-19: मंडी में अब सख्ती दिखाएगी पुलिस, ग्रामीण क्षेत्रों पर ज्यादा फोकस

हिमाचल का मंडी शहर.

Corona Curfew in Himachal: मधुसूदन गर्ग ने बताया कि उन्होंने पुलिस कर्मियों को सख्त हिदायत दी है कि वे किसी भी व्यक्ति के साथ बदतमीजी से पेश न आएं.

  • Share this:
मंडी. सेंट्रल रेंज मंडी (Mandi) के तहत आने वाले पांच जिलों की पुलिस कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) को लेकर पूरी तरह से सख्ती बरतने जा रही है. रेंज के डीआईजी मधुसूदन गर्ग ने मंडी में पत्रकारों से बातचीत में इस बात की जानकारी दी. उन्होंने कहा कि सख्ती से अभिप्राय पुलिस की कड़ी गश्त, निगरानी और नाकेबंदी से है. शहरों के साथ-साथ इस बार ग्रामीण क्षेत्रों पर अधिक सख्ती बरती जाएगी.

उन्होंने बताया कि जब से प्रदेश में कोरोना कर्फ्यू लगा है, तब से सेंट्रल रेंज में बीना मास्क घूम रहे 668 लोगों के चालान काटकर 489500 हजार का जुर्माना वसूल किया है. वहीं तीन दुकानदारों के चालान भी काटे हैं. गर्ग ने स्पष्ट किया कि लोगों को बेवजह परेशान करना पुलिस का मकसद नहीं, बल्कि ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने से है, जो नियमों को धत्ता बताने में लगे हुए हैं. अब पुलिस जीरो टॉलरेंस की नीति पर काम करने जा रही है.

डीआईजी मधुसूदन गर्ग ने मंडी में पत्रकारों से बातचीत में इस बात की जानकारी दी.


पुलिस को भी हिदायत
मधुसूदन गर्ग ने बताया कि उन्होंने पुलिस कर्मियों को सख्त हिदायत दी है कि वे किसी भी व्यक्ति के साथ बदतमीजी से पेश न आएं. यदि कोई नियमों की अवहेलना कर रहा है तो उसके खिलाफ कानूनन कार्रवाई अम्ल में लाई जाए. जितनी भी टीमें फिल्ड में भेजी गई हैं, उनके पास कैमरे भी हैं और बॉडी कैमरे भी लगे हुए हैं. इसलिए हर कार्रवाई की वीडियो रिकार्डिंग की जाएगी और यदि किसी पुलिस कर्मी ने बदतमीजी की तो फिर उसके खिलाफ कार्रवाई अम्ल में लाई जाएगी.

पड़ोसी जिलों में नाकेबंदी
मधुसूदन गर्ग ने बताया कि मंडी रेंज के तहत आने वाले बिलासपुर जिले की सीमा पडोसी राज्य के साथ लगती है और वहां पर पूरी तरह से नाकेबंदी की गई है. वहां पर पास के साथ ही प्रदेश में एंट्री मिल रही है और वहां किसी को भी दस मिनट से अधिक का इंतजार नहीं करने दिया जा रहा है.