कोरोना पर बैठक कर रहे थे CM जयराम ठाकुर, तभी पहुंचे 'नाराज' विधायक अनिल शर्मा, फिर...

सीएम जयराम ठाकुर की बैठक में पहुंचे विधायक अनिल शर्मा.

Himachal News: बीजेपी से मनमुटाव की अटकलों के बीच विधायक अनिल शर्मा कोरोना (COVID-19) के लेकर हो हुए सीएम जयराम ठाकुर की बैठक में पहुंचे. 

  • Share this:
मंडी. मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) मंगलवार को मंडी दौरे के दौरान शाम के समय डीआरडीए के सभागार में कोरोना को लेकर आयोजित जिला स्तरीय समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे. बैठक शुरू हो चुकी थी और जिला के अधिकतर विधायक और अधिकारी बैठक में भाग ले रहे थे. तभी बैठक कक्ष का दरवाजा खुला और अनिल शर्मा (Anil Sharma) बैठक में पहुंच गए. अनिल शर्मा को स्वास्थ्य मंत्री के साथ वाली कुर्सी पर बैठाया गया और उन्होंने पूरी बैठक में हिस्सा लिया. बैठक के बाद वे सीएम ठाकुर के साथ उनकी कार तक आए. इसके बाद सीएम कुछ लोगों से मिले और सर्किट हाउस की तरफ रवाना हो गए.



मौके पर मौजूद मीडिया कर्मियों से बातचीत में अनिल शर्मा ने बताया कि उन्हें एसी टू डीसी की तरफ से बैठक में आने का न्यौता मिला था और उसी न्यौते के तहत वे बैठक में शामिल होने आए थे. उन्होंने कहा कि दूरियां और नजदीकियां राजनीति में होती हैं. जब बैठक में बुलाया जाएगा तो वे जाएंगे और यदि बुलाएंगे तो नहीं जाएंगे. वहीं उन्होंने बताया कि सीएम जयराम ठाकुर ने उनका और उनके पिताजी यानि पंडित सुखराम का हालचाल भी पूछा और इससे ज्यादा कोई बात नहीं हुई.

चल रहा है मनमुटाव

बता दें कि अनिल शर्मा मौजूदा समय में भाजपा के विधायक हैं लेकिन बेटे के कांग्रेस में जाने के बाद से उनका और भाजपा के बीच में काफी ज्यादा मनमुटाव चला हुआ है. चुनावों के दौरान यह मनमुटाव और भी ज्यादा उग्र हो जाता है.

ये भी पढ़ें: CGBSE 10th Result 2021: कल वर्चुअल जारी होंगे नतीजे, छात्र नहीं करा सकेंगे रिवैल्यूएशन, ऐसे चेक करें रिजल्ट 

इन इलाकों ने बढ़ाई चिंता

हिमाचल प्रदेश में कोरोना को लेकर बीते 11 दिन से कर्फ्यू चल रहा है. इस दौरान प्रदेश में कोरोना  से मौतों का सिलसिला थमा नहीं है. लगातार मौतों का आंकड़ा बढ़ रहा है. हालांकि, केस जरूर कम हुए हैं. लेकिन कई जिलों में पॉजिटिविट रेट चिंतित करने वाला है. छह जिलों में प़ॉजिटिविटी दर 30 फीसद से ऊपर है. पिछले एक सप्ताह में सूबे के छह जिलों में कोरोना वायरस की पॉजिटिविटी दर 30 फीसदी से ऊपर चली गई है. कांगड़ा, हमीरपुर, मंडी, शिमला, सिरमौर और सोलन में हालात लगातार खराब हो रहे हैं. स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, हिमाचल प्रदेश में 10 से 16 मई के बीच पॉजिटिविटी दर 28.9 फीसदी रही है जबकि, 29 मार्च से चार अप्रैल के बीच पॉजिटिविटी दर दर महज सात फीसदी थी. सात हफ्तों के दौरान पॉजिटिविटी दर चार गुना तक बढ़ गई है.
Published by:Preeti George
First published: