लाइव टीवी
Elec-widget

एक बार धूमल और एक बार वीरभद्र ने किया उद्घाटन, फिर भी अधूरा है मंडी बस स्टैंड

Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: November 17, 2019, 12:42 PM IST
एक बार धूमल और एक बार वीरभद्र ने किया उद्घाटन, फिर भी अधूरा है मंडी बस स्टैंड
हमेशा राजनीति की भेंट चढ़ा है मंडी का बस स्टैंड

मंडी बस स्टैंड का शिलान्यास 1993 में किया गया था और फिर 16 साल बाद 2009 में निर्माण कार्य की शुरुआत हुई. इस अधूरे बस स्टैंड का दो बार 2012 और 2016 में उद्घाटन किया गया, लेकिन आज तक अधूरा पड़ा काम पूरा नहीं किया जा सका. यही कहानी है मंडी जिला के सबसे बड़े और इकलौते अंतरराज्यीय बस स्टैंड (Interstate Bus Stand) की. 

  • Share this:
मंडी. मंडी बस स्टैंड राजनीति (Politics with Mandi Bus Stand) की ऐसी भेंट चढ़ा कि दो बार  राज्य के 2 मुख्यमंत्रियों द्वारा उद्घाटन किए जाने के बाद भी आज तक इसका अधूरा पड़ा कार्य पूरा नहीं हो सका. आज भी बस स्टैंड की दूसरी मंजिल का निर्माण कार्य पूरी तरह से अधर में लटका हुआ है. सीमेंट और सरिए के बड़े-बड़े पिल्लर खड़े तो कर दिए गए हैं, लेकिन इनमें लगा सीमेंट टूटता जा रहा है और सरिया जंग खाता जा रहा है. न जाने ऐसी कौन सी बात है कि इस बस स्टैंड के साथ हमेशा राजनीति ही होती रही. मौजूदा सरकार के मुखिया सीएम जयराम ठाकुर (Jairam Thakur) मंडी से हैं, लेकिन अभी तक इसके विस्तार की तरफ कोई ध्यान नहीं दिया जा सका है. लोगों ने बस स्टैंड के अधूरे काम (Mandi Bus Stand Incomplete) को जल्द पूरा करने की मांग उठाई है.

1993 में किया गया था शिलान्यास

वर्ष 1993 में तत्कालीन केंद्रीय राज्य मंत्री पंडित सुखराम (Pandit Sukhram) ने नए बस स्टैंड का शिलान्यास किया. शिलान्यास के 16 वर्षों बाद 30 दिसंबर 2009 को तत्कालीन सीएम प्रो. प्रेम कुमार धूमल (Prem Kumar Dhumal) ने इसके निर्माण कार्य का भूमि पूजन किया और कार्य आरंभ हुआ. 13 सितंबर 2012 को विधानसभा चुनावों से ठीक पहले आधे अधूरे बस स्टैंड का उद्घाटन कर दिया गया. यह उद्घाटन भी प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने ही किया.

मंडी के लोग सीएम से लगाए बैठे हैं बस स्टैंड के विस्तारीकरण की आस


सत्ता परिवर्तन के बाद फिर हुआ उद्घाटन

इसके बाद सत्ता परिवर्तन हुआ और वीरभद्र सिंह (Virbhadra Singh) मुख्यमंत्री बने. उनके कार्यकाल में ग्राउंड फ्लोर पर अधूरे रह गए निर्माण कार्य को पूरा किया गया. 30 मई 2016 को वीरभद्र सिंह ने बस स्टैंड का फिर से उद्घाटन कर दिया. इसके बाद फिर किसी ने बस स्टैंड की तरफ मुड़कर नहीं देखा. बस स्टैंड की दूसरी मंजिल के निर्माण के लिए पिल्लर भी खड़े कर दिए गए थे, लेकिन आज तक इस दिशा में कार्य आगे नहीं बढ़ सका.

मौजूदा सरकार के पास कोई योजना नहीं
Loading...

बस स्टैंड की दूसरी मंजिल के विस्तार के लिए कई योजनाएं बनी और धराशायी हो गई. कहा गया कि यहां पर पार्किंग स्थल और शॉपिंग कॉम्प्लेक्स बनाया जाएगा. दूसरी मंजिल पर भी बसों के आने जाने की सुविधा होगी, लेकिन ये सारी योजनाएं हवाओं में बनी और गायब हो गई. मौजूदा सरकार की बात करें तो सरकार के पास भी इस बस स्टैंड के विस्तार की कोई ठोस योजना नहीं है. सीएम जयराम ठाकुर से जब इस बारे में बात की गई तो उन्होंने बताया कि बस स्टैंड की ऊपरी मंजिल पर एक बड़े हॉल के निर्माण के बारे में विचार किया जा रहा है. इस हॉल में एक साथ एक हजार से अधिक लोगों के बैठने की व्यवस्था होगी, लेकिन इस पर भी अभी एग्जामिनेशन का कार्य चला हुआ है.

मौजूदा राज्य सरकार का भी बस स्टैंड के विस्तार की तरफ कोई ध्यान नहीं


मंडी का बस स्टैंड पूरी तरह से कब पूरा होगा इसको लेकर कोई सटीक भविष्यवाणी नहीं की जा सकती. मंडी शहर के निवासियों ने बस स्टैंड के अधूरे कार्य पर दुख जताते हुए राज्य सरकार से इसे जल्द से जल्द पूरा करने की मांग उठाई है.

ये भी पढ़ें - सोलन में खुला मस्कुलर डिस्ट्रॉफी रोगियों के लिए हाइड्रोथेरेपी पूल

ये भी पढ़ें - सरकाघाट : एसपी ने कहा- लोग शिकायत करते रहे और कार्रवाई से भी मना करते रहे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मंडी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 17, 2019, 12:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...