Home /News /himachal-pradesh /

पुलवामा आतंकी हमले के बाद बीजेपी-कांग्रेस दे रही है इन पूर्व सैनिकों को टिकट

पुलवामा आतंकी हमले के बाद बीजेपी-कांग्रेस दे रही है इन पूर्व सैनिकों को टिकट

बीेजेपी और कांग्रेस का चुनाव चिह्न

बीेजेपी और कांग्रेस का चुनाव चिह्न

पुलवामा में आतंकी हमले के बाद भारतीय सेना ने अपने शौर्य का परिचय देते हुए जो जबावी कार्रवाई की, उसे देश के दोनों ही प्रमुख राजनीतिक दल भुनाने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते हैं. ऐसे में भाजपा और कांग्रेस हिमाचल से पूर्व सैनिकों को टिकट देकर चुनावी दंगल में उतारने की फिराक में हैं.

अधिक पढ़ें ...
जम्मू और कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले के बाद भारतीय सेना ने अपने शौर्य का परिचय देते हुए जो जबावी कार्रवाई की, उसे देश के दोनों ही प्रमुख राजनीतिक दल भुनाने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते हैं. ऐसे में भाजपा और कांग्रेस हिमाचल से पूर्व सैनिकों को टिकट देकर चुनावी दंगल में उतारने की फिराक में हैं. माना जा रहा है कि मंडी से कारगिल युद्ध के हीरो रहे ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर को भाजपा मैदान में उतार सकती है. ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर मंडी जिला के नगवाईं गांव के रहने वाले हैं और कारगिल युद्ध के दौरान 18 ग्रेनेडियर के प्रमुख थे. इनके नेतृत्व वाले दल ने टाईगर हिल और तोलोलिंग की चोटियों पर कब्जा किया था. यह इस युद्ध का टर्निंग प्वाइंट था.

वर्ष 2014 के लोकसभा चुनावों में भी भाजपा अंतिम दौर तक ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर के नाम पर चर्चा करती रही थी, लेकिन अंत में मुहर राम स्वरूप शर्मा के नाम पर लगी थी. अब एक बार फिर से ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर के नाम पर पार्टी हाईकमांड विचार कर रही है.

हमीरपुर संसदीय सीट से कांग्रेस सेना के एक पूर्व अधिकारी को मैदान में उतारने की सोच रही है जबकि शिमला से कर्नल धनी राम शांडिल के नाम पर चर्चा चल रही है. माना जा रहा है कि यह विचार सेना के शौर्य को देखते हुए किया जा रहा है.

हिमाचल प्रदेश में सैनिकों और पूर्व सैनिकों के लाखों की संख्या में परिवार हैं. यदि भाजपा और कांग्रेस किसी पूर्व सैनिक को टिकट देती है तो इससे सेना से जुड़े परिवारों के बीच एक अलग संदेश जाएगा और इन परिवारों के वोट बैंक को आसानी से टारगेट किया जा सकेगा.

ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर की बात करें तो वे सेना से रिटायरमेंट के बाद पार्टी और समाज के लिए लगातार कार्य कर रहे हैं. फोरलेन के कारण विस्थापित हुए हजारों परिवारों के लिए न्याय की लड़ाई लड़ रहे हैं और यह परिवार इस वक्त खुशाल ठाकुर के साथ हैं.

ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर ने कहा कि अगर पार्टी उन्हें इस प्रकार की कोई जिम्मेवारी देती है तो वह इसे बखूबी निभाने का प्रयास करेंगे. इसके साथ ही उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि उन्होंने कोई आवेदन नहीं किया है और पार्टी अपने स्तर पर ही इस प्रकार का निर्णय लेती है.

यह भी पढ़ें: ऊना में RTO बैरियर पर औचक निरीक्षण को पहुंचे परिवहन निदेशक से उलझा होमगार्ड

भाजपा के विधायक दल की बैठक 16 मार्च को होगी, CM जयराम करेंगे अगुवाई

Tags: Himachal pradesh, Indian army, Mandi, Pulwama attack

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर