RTO ने ओवरलोड गाड़ियों की चेकिंग के लिए लगाया नाका, जाम लगने से परेशान हो गए लोग

आरटीओ के नाके से डरे मालवाहक वाहनों ने भी जहां कहीं जगह मिली वहीं अपने वाहन खड़े कर दिए. जिस कारण जाम की समस्या और भी गंभीर हो गई.

Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 27, 2019, 9:24 PM IST
RTO ने ओवरलोड गाड़ियों की चेकिंग के लिए लगाया नाका, जाम लगने से परेशान हो गए लोग
ओवरलोडिंग को लेकर की जा रही चेकिंग में लंबा जाम लग गया
Virender Bhardwaj
Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 27, 2019, 9:24 PM IST
मंडी में शुक्रवार को वाहनों के चेकिंग के लिए लगाए गए नाके के कारण नेशनल हाईवे पर दो किमी लंबा जाम लग गया. जिस कारण आम लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा. आरटीओ फ्लाईंग स्क्वॉयड कुल्लू कमलजीत शर्मा ने अपनी टीम के साथ मंडी शहर के साथ लगते सौली खड्ड में नाका लगा दिया. यह शहर के भीड़ भाड़ वाले इलाकों में शामिल है और मनाली चंडीगढ़ नेशनल हाईवे यहीं से होकर गुजरता है. यहां नाका इसलिए लगाया गया क्योंकि यहां धर्मकांटा है और मालवाहक वाहनों का वजन यहीं पर किया जा रहा है. वजन करके यह पता लगाया जा रहा है कि वाहन कहीं ओवरलोड़ तो नहीं हैं. लेकिन इस कारण नेशनल हाईवे पूरी तरह से जाम लग गया और करीब दो किमी तक लंबा जाम लग गया.

आरटीओ चेकिंग, RTO checking
नाके के लिए उचित स्थान नहीं चुनाने से 2 किलो मीटर का जाम लग गया


पुलिस टीम ने मौके पर पहुच कर खुलवाया जाम

आरटीओ के नाके से डरे मालवाहक वाहनों ने भी जहां कहीं जगह मिली वहीं अपने वाहन खड़े कर दिए. जिस कारण जाम की समस्या और भी गंभीर हो गई. बाद में सदर थाना की पुलिस टीम ने मौके पर आकर जाम को खुलवाया. जाम में फंसे यात्री आरटीओ के नाके से तो संतुष्ट दिखे लेकिन जगह के गलत चयन को लेकर उन्हें कोसते हुए भी नजर आए. अधिकतर लोगों को 2 घंटों तक जाम में फंसे रहना पड़ा.

एक लाख से अधिक का जुर्माना वसूला 

आरटीओ ने 70 से 80 वाहनों के ओवरलोडिंग के चालान काटकर एक लाख से अधिक का जुर्माना वसूल कर दिया था. फ्लाईंग स्क्वॉयड कुल्लू के आरटीओ कमलजीत शर्मा ने बताया कि मालवाहक वाहनों की ओवरलोडिंग को जांचने के लिए यह नाका धर्मकांटे के पास लगाया गया है. उन्होंने बताया कि पुलिस के सहयोग से जाम को खोलने का प्रयास किया जा रहा है क्योंकि अधिकतर मालवाहक वाहन चालकों ने डर के कारण बेतरतीब ढंग से अपने वाहन खड़े किए हैं जिस कारण यह समस्या उत्पन्न हुई है.

ये भी पढ़ें- मुख्यमंत्री आवास के पास गिरा पेड़, स्कूली बच्चे बाल बाल बचे
Loading...

ये भी पढ़ें- एस्टिमेट 24 लाख, खर्चे 37 लाख, 6 साल में स्कूल के 2 हाल बनाने का काम अब भी अधूरा
First published: July 27, 2019, 6:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...