लाइव टीवी
Elec-widget

सरकाघाट क्रूरता मामला: आस्था के नाम पर हिंसा के खिलाफ छेड़ा जाएगा अभियान

Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: November 25, 2019, 2:51 PM IST
सरकाघाट क्रूरता मामला: आस्था के नाम पर हिंसा के खिलाफ छेड़ा जाएगा अभियान
मंडी में देवता समिति के साथ बैठक करते हुए एसपी.

Sarkaghat Old Lady Cruelty case: एसपी मंडी गुरदेव चंद शर्मा ने बताया कि आने वाले समय में देवता के नाम पर हो रहीं हिंसा को रोकने के लिए एक अभियान चलाया जाएगा.

  • Share this:
मंडी. हिमाचल प्रदेश के मंडी जिला (Mandi) के सरकाघाट (Sarkaghat) में देवता के नाम पर बुजुर्ग महिला के साथ हिंसा (Violence) के बाद अब प्रशासन, पुलिस (Police) व देव समाज हरकत में आ गए हैं. आने वाले समय में समाज में इस प्रकार की हिंसा न हो उसके लिए कोशिशें भी तेज कर दी गई हैं. सोमवार को मंडी पुलिस लाइन (Mandi Police Lines) में सर्व देवता समिति की एक बैठक हुई.

बैठक की अध्यक्षता पुलिस अधिक्षक मंडी गुरदेव शर्मा ने की. इस दौरान मंडी जिला सर्व देवता समिति की कार्यकारिणी के सदस्य भी मौजूद रहे. बैठक के दौरान सरकाघाट में देवता के नाम पर हुए प्रकरण के बारे में गहन चर्चा की गई और इस कार्य की निंदा की गई. वहीं, इस प्रकार की घटना समाज में आने वाले समय में न हो उसके लिए सभी को जागरूक किया गया.

बैठक में यह फैसला हुआ
बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि देव समाज भी इन कार्यों की रोकथाम के लिए पुलिस की सहायता करेगा. इसके साथ ही देव समाज से जुड़े लोगों को भी देवता के नाम पर किसी भी प्रकार की हिंसा होने पर समिति को अवगत करवाने का आह्वान किया है. बैठक में निर्णय लिया गया कि देवता के नाम पर इस प्रकार की हिंसा को बिलकुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. ऐसा करने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई लाएगी.

बैठक की अध्यक्षता पुलिस अधिक्षक मंडी गुरदेव शर्मा ने की.
बैठक की अध्यक्षता पुलिस अधिक्षक मंडी गुरदेव शर्मा ने की.


यह बोले एसपी मंडी
बैठक के उपरांत एसपी मंडी गुरदेव चंद शर्मा ने बताया कि आने वाले समय में देवता के नाम पर हो रहीं हिंसा को रोकने के लिए एक अभियान चलाया जाएगा. ऐसा करने वालों की तलाश की जाएगी और उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही अमल में लाई जाएगी. मंडी जिला सर्व देवता समिति के प्रधान शिवपाल शर्मा ने कहा कि प्राचीन देवता इस प्रकार के कामों में संलिप्त नहीं होते हैं. उन्होंने जिला में बन रहे नए देव रथों और उनके नाम पर चेला पंथी करने वालों को इसका जिम्मेवार ठहराया है. कहा कि इस प्रकार की घटनाओं से देव आस्था को ठेस पहुंचती है और भविष्य में ऐसा करने वालों को बख्शा नहीं जाना चाहिए. देवता कभी किसी को प्रताड़ित करने का हुक्म नहीं देते और देवता के नाम पर ऐसे कुकृत्य बंद होने चाहिए.
Loading...

ये भी पढ़ें- हिमाचल में निजी बस खाई में गिरी, 30 लोग घायल

हिमाचल में फिर रुलाने लगा प्याज, 100 रुपये के करीब पहुंची कीमतें

हिमाचल कांग्रेस के सीनियर लीडर धामी का निधन, दो दिन पहले मनाया था बर्थडे

आंगन में जलाया महिला का शव: राष्ट्रीय अवॉर्ड से सम्मानित कुठेहड़ पर लगा ‘कलंक’

किन्नौर में आधी रात को SBI का ATM काट रहा ITBP जवान और साथी गिरफ्तार

PHOTOS: 142 साल बाद वाहनों के भार से मुक्त होगा ऐतिहासिक विक्टोरिया ब्रिज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मंडी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 25, 2019, 2:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...