संगीत में मिटेगा दीपिका के जीवन का अंधेरा

News18Hindi
Updated: October 13, 2017, 5:08 PM IST
संगीत में मिटेगा दीपिका के जीवन का अंधेरा
दिव्यांग दीपिका.
News18Hindi
Updated: October 13, 2017, 5:08 PM IST
कहते हैं..अगर दिल में कुछ का गुजरने की इच्छा हो तो इंसान कुछ भी कर सकता है. ऐसा ही कर दिखाया है हिमाचल प्रदेश के शिमला के शोघी की दीपिका की. जो कि गरीब परिवार से संबंध रखती हैं.

दीपिका सुंदरनगर में विशेष योगता वाले स्कूल में आठवीं की छात्रा है. अब 14 वर्ष की दीपिका का चयन संगीत में हुआ है. कलकत्ता के संस्थान द्वारा विशेष योग्यता वाले बच्चों के लिए विशेष आडिशन आयोजित किया गया है.

इसमें प्रदेश भर से विभिन रूप से दिव्यांग बच्चे शामिल हुए. सुंदरनगर के हरिपुर स्थित विशेष योग्यता वाले बच्चों के लड़कियों के स्कूल से दीपिका सहित चार छात्राएं शिमला में ऑडिशन में शामिल हुई.

दृष्टिबाधित दीपिका की आवाज बेहतर रही और उसका चयन हुआ. दीपिका को संस्थान की ओर से एक साल तक कोलकात्ता में निशुल्क प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा.

दीपिका के चयन से उसके स्कूल और परिवार में उसके भविष्य को लेकर खुशी की लहर है. उसकी प्रतिभा को इस मुकाम तक पहुचाने को लेकर स्कूल के विशेष शिक्षकों के कार्यों की भी सराहना की गई है.

इधर, दिल्ली में इंडियन ब्लाइंड स्पोर्टस एसोसिएशन के हाल ही में हुई विशेष योग्यता वाले बच्चों की राष्ट्रीय खेलकूद प्रतियोगिता में स्कूल की छात्राओं ने भाग लिया है. जिसमें 400 मीटर दौड़ स्पर्धा में स्कूल की दिव्यांग छात्रा अंजलि ने सिल्वर मेडल और डिस्कस थ्रो स्पर्धा में दिव्यांग शालिनी ने ब्रांज मैडल प्राप्त कर स्कूल और परिवार का नाम रोशन किया है.

प्रधानाचार्य कृष्ण शर्मा की अध्यक्षता में स्कूल में शिक्षक वर्ग द्वारा सम्मान समारोह आयोजित किया गया. तीनों छात्राओं को स्मृति चिन्ह भेंट किया.
First published: October 13, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर