इंसानियत शर्मसार! सरकाघाट में बैलों को 3 माह तक रस्सी से बांधकर छोड़ा, भूख-प्यास से मौत, इलाके में तनाव

बैलों को रस्सी से बांधा और बाद में भूख प्यास से उनकी मौत हो गई.

बैलों को रस्सी से बांधा और बाद में भूख प्यास से उनकी मौत हो गई.

डीएसपी चंद्रपाल सिंह ने न्यूज 18 से बातचीत में कहा कि मामले में केस दर्ज किया गया है. गुरुवार रात को दो आरोपियो को हिरासत में लिया गया है. पुलिस मामले में कार्रवाई कर रही है. उन्होंने बताया कि स्थानीय लोगों और पंचायत प्रधान को भी बुलाया गया है, ताकि पता लगाया जा सके कि आरोपियों ने ऐसा क्यों किया है.

  • Share this:

सरकाघाट (मंडी). हिमाचल प्रदेश के मंडी (Mandi) जिले में इनसानियत को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है. यहां एक शख्स ने अपने दो बैलों को गौशाला के पास जंगल में रस्सी से बांध दिया. तीन माह पहले आरोपी ने बैलों को रस्सी से बांधा था और इस वजह से बाद में भूख और प्यास के चलते बैलों की मौत हो गई. घटना का आरोप विशेष सुमदाय के शख्स पर लगा है. मामला सामने आने के बाद इलाके में माहौल तनावपूर्ण हो गया था. पुलिस ने इस संबंध में दो आरोपियों को हिरासत में लिया है.

जानकारी के अनुसार, मंडी जिले के धर्मपुर उपमंडल की चनौता पंचायत का यह मामला है. पंचायत के गांव गलु और भडियार के बीच की यह घटना है. आरोप है कि आरोपी ने जंगल में गौशाला के बाहर अपने दो बैलों को तीन माह पूर्व रस्सी से बांध कर भूखे प्यासे मरने के लिए छोड़ दिया. दरसअल, जब एक व्यक्ति लखदाता पीर के दर्शनों को जंगल से गुजर रहा था तो उसे दुर्गन्ध का एहसास हुआ. वह इस दृश्य को देखकर हैरान हो गया. दोनों बैल कंकाल बन चुके थे जबकि रस्सी अभी तक बंधी हुई थी.

जंगल में बचे बैलों के कंकाल.

लोगों को बताई बात
गांव लौटने पर लोगों को उसने सारी बात बताई. फोन पर जानकारी पंचायत प्रधान सविता गुप्ता को जानकारी दी गई. बाद में लोगों में आक्रोश फैल गया और स्थिति तनावपूर्ण हो गई है, इसलिए पुलिस दल मौके पर भेजा गया था. मामले से जुड़ा वीडियो सोशल मीडिया पर भी सामने आया है. लोग इस घटना की जमकर निंदा कर रहे हैं. बता दें कि चनौता के भडियार गांव की यह घटना है, वह मुस्लिम बहुल इलाका है और इस वजह से तनाव बढ़ा है.

डीएसपी सरकाघाट ने की पुष्टि

डीएसपी चंद्रपाल सिंह ने न्यूज 18 से बातचीत में कहा कि मामले में केस दर्ज किया गया है. गुरुवार रात को दो आरोपियो को हिरासत में लिया गया है. पुलिस मामले में कार्रवाई कर रही है. उन्होंने बताया कि स्थानीय लोगों और पंचायत प्रधान को भी बुलाया गया है, ताकि पता लगाया जा सके कि आरोपियों ने ऐसा क्यों किया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज