हिमाचल की छोटी काशी मंडी में बनेंगी दो ‘काउ सेंक्चुरी’

काउ सेंक्चुरी का 400 बीघा एरिया है. उसकी पूरी तरह से फैंसिंग की जाएगी. इस क्षेत्र में न तो बाहरी जानवर आ सकेगा और न ही अंदर वाला बाहर जा सकेगा.

Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: June 26, 2019, 2:10 PM IST
हिमाचल की छोटी काशी मंडी में बनेंगी दो ‘काउ सेंक्चुरी’
हिमाचल के मंडी में बनेगी दो काउ सेंक्चुरी.
Virender Bhardwaj
Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: June 26, 2019, 2:10 PM IST
हिमाचल प्रदेश के मंडी जिला के लोगों को जल्द ही लावारिस पशुओं की समस्या से निजात मिलने वाली है. जिला प्रशासन दो स्थानों पर काउ सेंचुरी बनाने जा रहा है, जहां पर एक साथ-एक हजार से अधिक लावारिस पशुओं के ठहरने की व्यवस्था होगी.

बता दें कि सड़कों पर घूमते लावारिस पशु खेतों में फसलों को उजाड़ते हैं. कभी हादसों को न्यौता देते हैं तो कभी राहगीरों को मारने पर उतारू होते हैं. अब सीएम जयराम ठाकुर का गृहजिला मंडी अब इन लावारिस पशुओं के आतंक से मुक्ति पाने वाला है.

यहां-यहां बनेगी काउ सेंक्चुरी
मंडी जिला प्रशासन ने जिला के दो स्थानों पर काउ सेंक्चुरी बनाने के लिए जगह का चयन कर लिया है. जिला के प्रसिद्ध धार्मिक पर्यटन स्थल मुरारी देवी और नैणा देवी के पास वाले जंगलों में इन काउ सेंक्चुरी का निर्माण किया जाएगा. इन दोनों स्थानों पर वन विभाग की 400-400 बीघा जमीन का चयन किया गया है. यह दोनों स्थान पशुओं को रखने के लिहाज से बेहतर माने गए हैं.

ये है प्लान
काउ सेंक्चुरी का 400 बीघा एरिया है. उसकी पूरी तरह से फैंसिंग की जाएगी. इस क्षेत्र में न तो बाहरी जानवर आ सकेगा और न ही अंदर वाला बाहर जा सकेगा. अंदर पशुओं के बारिश से बचने के लिए शेड बनाए जाएंगे और चारे व पानी की उचित व्यवस्था भी की जाएगी. एक काउ सेंक्चुरी में 500 के करीब पशुओं को रखा जा सकेगा और इस तरह दोनों स्थानों पर एक हजार से अधिक लावारिस पशुओं को शरण मिलेगी.

ये बोले डीसी
Loading...

डीसी मंडी ऋग्वेद ठाकुर की मानें तो इसकी औपचारिकताओं को पूरा किया जा रहा है और वन विभाग तथा स्थानीय लोगों की तरफ से आई आपत्तियों का समाधान किया जा रहा है. ऋग्वेद ठाकुर के अनुसार जल्द ही इस पूरी प्रक्रिया को अमलीजामा पहना लिया जाएगा. हालांकि इससे पहले, मंडी जिला प्रशासन आवारा पशुओं को शरण देने के लिए गौ सदनों के निर्माण पर जोर दे रहा ,था लेकिन बाद में इस प्रपोजल को बदला गया.

ये भी पढ़ें: हिमाचल: 16 वर्षीय नाबालिग से रेप, झांसा देकर ले गया था पंजाब

PHOTOS: मनाली की वादियों में जाह्नवी कपूर को दिखा ‘भूत‘

फर्नीचर खरीदने में कमीशन: रिश्वत लेते हेडमास्ट-टीचर गिरफ्तार

किन्नर कैलाश यात्रा पर गए 5 युवकों में से एक की मौत, 1 लापता

हिमाचली सेब पर संकट, यहां-यहां स्कैब रोग की जद में आए बगीचे
First published: June 26, 2019, 1:55 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...