VIDEO: मंडी में कोरोना संक्रमित महिला को नहीं मिला बेड, एक घंटा एम्बुलेंस में रही, मौत

मंडी में कोरोना से महिला की मौत पर हंगामा. (सांकेतिक तस्वीर.)

मंडी में कोरोना से महिला की मौत पर हंगामा. (सांकेतिक तस्वीर.)

Mandi Corona Positive Women Death in Hospital: हास्पिटल प्रबंधन ने जैसे-तैसे अतिरिक्त बिस्तरों का इंतजाम किया और मरीजों को अस्पताल में भर्ती किया. लेकिन भर्ती होने से पहले पौने घंटे तक महिला को एम्बुलेंस में ही इंतजार करना पड़ा.

  • Share this:
मंडी. हिमाचल प्रदेश के मंडी (Mandi) जिला के जोगिंद्रनगर से सुंदरनगर स्थित कोविड हास्पिटल रैफर की गई कोरोना संक्रमित (Corona Virus) महिला को पहले पौना घंटा एम्बुलेंस में रहना पड़ा और बाद में जब उसे हास्पिटल में दाखिला मिला तो उसकी मौत हो गई. महिला के परिजनों ने महिला की मौत का पूरा वीडियो बनाया है, जो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है.

रेफर किया गया था

घटना 18 अप्रैल रात की बताई जा रही है. जोगिंद्रनगर उपमंडल के जलपेहड़ गांव की 61 वर्षीय महिला पहले से बीमार थी और निजी क्लीनिक से उपचार ले रही थी. 18 अप्रैल को जब महिला की तबीयत ज्यादा खराब हुई तो परिजन उसे सिविल हास्पिटल जोगिंद्रनगर ले आए. यहां महिला का कोरोना टेस्ट किया गया तो उसमें महिला पॉजिटिव पाई गई. महिला का ऑक्सीजन लेवल यहीं पर काफी नीचे चला गया था. यहां से महिला को उपचार के लिए बीबीएमबी कालोनी सुंदरनगर स्थित कोविड हास्पिटल के लिए रैफर कर दिया गया. यहां 40 बिस्तरों वाले अस्पताल में एक भी बैड खाली नहीं था. हास्पिटल के बाहर तीन एम्बुलेंस पॉजिटिव मरीजों को लेकर खड़ी हो गई थी.

Youtube Video

बिस्तर का इंतजाम

हास्पिटल प्रबंधन ने जैसे-तैसे अतिरिक्त बिस्तरों का इंतजाम किया और मरीजों को अस्पताल में भर्ती किया. लेकिन भर्ती होने से पहले पौने घंटे तक महिला को एम्बुलेंस में ही इंतजार करना पड़ा. हालांकि उस दौरान महिला को ऑक्सीजन दी जा रही थी. जब महिला हास्पिटल में लाई गई तब तक उसका ऑक्सीजन लेवल पूरी तरह से कम हो गया था. मौके पर मौजूद महिला के परिजन भी कोविड वार्ड में चले गए और वीडियो बना डाला. साथ ही परिजन यह भी आरोप लगाते सुनाई दिए कि डॉक्टर बुलाने के बाद भी नहीं आया और यह सब लापरवाही के कारण हुआ है. वीडियो में यह भी दिखाई दे रहा है कि अस्पताल प्रबंधन की तरफ से मरीज को बचाने की कोशिशें हो रही थी, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका. हालांकि, महिला को टांडा रैफर कर दिया गया था, लेकिन उससे पहले ही उसकी मौत हो गई.

क्या बोले सीएमओ मंडी



सीएमओ मंडी डा. देवेंद्र शर्मा ने इसकी पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि महिला पहले से बीमार थी और उसे काफी देरी से अस्पताल लाया गया है. डॉक्टरों की तरफ से हर संभव कोशिश की गई, लेकिन महिला को नहीं बचाया जा सका क्योंकि उसका ऑक्सीजन लेवल काफी डाउन चला गया था. परिजनों ने जो आरोप लगाए हैं वो सही नहीं हैं. यदि महिला को समय रहते अस्पताल लाया गया होता तो बात कुछ और होती. उन्होंने लोगों से अपील की है कि वे कोरोना को हल्के में न लें और लक्ष्ण आने पर तुरंत अस्पताल आकर अपना चैकअप करवाएं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज