हिमाचल कांग्रेस प्रभारी के सुखराम के साथ सियासी लंच के बाद बदले BJP MLA अनिल शर्मा के सुर!

दो सप्ताह पहले कांग्रेस प्रभारी मंडी में सुखराम के घर गए थे.
दो सप्ताह पहले कांग्रेस प्रभारी मंडी में सुखराम के घर गए थे.

BJP MLA Anil Sharma attack on CM: लोकसभा चुनाव में अनिल शर्मा के बेटे आश्रय शर्मा को कांग्रेस ने टिकट दिया था. इसके बाद भाजपा विधायक को कैबिनेट से इस्तीफा देना पड़ा था. हालांकि, उन्होंने भाजपा से इस्तीफा नहीं दिया और पार्टी में बने हुए हैं. लेकिन तब से वह पूरी तरह दरकिनार हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 23, 2020, 8:10 AM IST
  • Share this:
मंडी. हिमाचल प्रदेश में मंडी जिला (Mandi) में सियासत फिजाओं में एक बार फिर से गर्माहट आई है. सदर से भाजपा (BJP) के विधायक अनिल शर्मा (Anil Sharma) ने मंडी में आयोजित एक पत्रकार वार्ता में अपनी ही सरकार पर भड़ास निकाली. कई महीने से लाइमलाइट और चुप्पी साधे भाजपा विधायक अनिल शर्मा (Anil Sharma) अचानक मुखर हुए हैं और सीएम (CM Jairam Thakur) समेत सरकार पर हमला बोला. सवाल उठ रहे हैं कि अचानक अनिल शर्मा ने क्यों चुप्पी तोड़ी और हमलावर हुए. चर्चाओं का बाजार गर्म है.

सुखराम के घर गए थे शुक्ला
दरअसल, दो सप्ताह पहले ही हिमाचल प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी राजीव शुक्ला मंडी पहुंचे थे. इस दौरान उन्होंने पंडित सुखराम के घर पर लंच किया था. इस दौरान शुक्ला सुखराम और उनके पोते आश्रय शर्मा से मिले थे. हालांकि, इस दौरान भाजपा विधायक अनिल शर्मा घर पर मौजूद नहीं थे, लेकिन अब चर्चाओं का बाजार गर्म है कि राजीव शुक्ला के उनके घर जाने के बाद से अनिल शर्मा के तेवर बदले हैं.

सीएम जयराम ठाकुर और अनिल शर्मा.
सीएम जयराम ठाकुर और अनिल शर्मा.

क्या बोले अनिल शर्मा


गुरुवार को भाजपा विधायक अनिल शर्मा ने कहा कि उन्हें और उनके परिवार को विभिन्न मंचों से भी प्रताड़ित किया गया. उन्होंने जब से मंत्री पद छोड़ा उसके बाद से सदर हल्के में विकास के कार्य अटके व लटके पड़े हैं. विधायक अनिल शर्मा ने सरकार के मुखिया पर तंज कसते हुए कहा कि वे कांग्रेस और भाजपा दोनों पार्टियों के सरकारों में चार बार विधायक व तीन बार मंत्री रह चुक हैं, ऐसे में अनिल शर्मा के पास सरकार चलाने का अच्छा अनुभव भी है.

पंडित सुखराम के घर पहुंचे राजीव शुक्ला.(FILE PHOTO)


क्यों हाशिये पर हैं अनिल
लोकसभा चुनाव में अनिल शर्मा के बेटे आश्रय शर्मा को कांग्रेस ने टिकट दिया था. इसके बाद भाजपा विधायक को कैबिनेट से इस्तीफा देना पड़ा था. हालांकि, उन्होंने भाजपा से इस्तीफा नहीं दिया और पार्टी में बने हुए हैं. लेकिन तब से वह पूरी तरह दरकिनार हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज