लाइव टीवी

जादू-टोने के संदेह में महिला का मुंह काला कर घुमाया, मामले में SIT गठित

News18Hindi
Updated: November 18, 2019, 10:55 PM IST
जादू-टोने के संदेह में महिला का मुंह काला कर घुमाया, मामले में SIT गठित
पीठ ने 10 और 11 नवंबर को विभिन्न अखबारों में प्रकाशित खबरों का स्वत: संज्ञान लेते हुए उसे जनहित याचिका में बदलते हुए ये आदेश जारी किया.

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) सरकार ने एक गांव में जादू टोने के संदेह में 81 वर्षीय बुजुर्ग महिला का मुंह काला कर और उसे जूतों की माला पहनाकर घुमाने के मामले की जांच के लिए एक विशेष टीम (Special Team) बनायी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 18, 2019, 10:55 PM IST
  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) सरकार ने एक गांव में जादू टोने के संदेह में 81 वर्षीय बुजुर्ग महिला का मुंह काला कर और उसे जूतों की माला पहनाकर घुमाने के मामले की जांच के लिए एक विशेष टीम (Special Team) बनायी है. राज्य सरकार ने इस संबंध में सोमवार को हाई कोर्ट (High Court) को सूचित किया. राज्य सरकार ने कहा कि मामले की गंभीरता को देखते हुए एसआईटी बनायी गयी है.

अदालत के ध्यान में लाया गया कि इस मामले में नौ नवंबर को मंडी जिले के सरकाघाट थाने में एक प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी. चीफ जस्टिस एल नारायण स्वामी और जज ज्योत्सना रेवाल दुआ की पीठ ने मामले पर सुनवाई करते हुए सरकार से छह हफ्ते के भीतर छह नवंबर को समाहाल गांव में बुजुर्ग महिला को प्रताड़ित करने के मामले में स्थिति रिपोर्ट दाखिल करने को कहा. पीठ ने 10 और 11 नवंबर को विभिन्न अखबारों में प्रकाशित खबरों का स्वत: संज्ञान लेते हुए उसे जनहित याचिका में बदलते हुए ये आदेश जारी किया.

ये है पूरा मामला

कुछ लोगों ने एक बुजुर्ग महिला के साथ ऐसी क्रूरता की थी, जिसे जानकर आपके हैरान रह जाएंगे. 81 वर्षीय बुजुर्ग महिला के बाल काटे गए, उसका चेहरे पर कालिख पोती गई और गले में जूतों की माला पहनाकर देवता के रथ के आगे घसीटा गया. मामला मंडी जिला के सरकाघाट उपमंडल की ग्राम पंचायत गाहर का है. इस पंचायत के छोटा समाहल गांव में 81 वर्षीय बुजुर्ग महिला राजदेई का घर है. पति की मौत हो चुकी है और सिर्फ दो बेटियों का सहारा है, जिनकी शादियां हो चुकी हैं. कोई उचित देखभाल करने वाला नहीं है, इसलिए राजदेई बरच्छवाड़ में अपनी बेटी और दामाद के साथ रहती है. छोटा समाहल गांव में देवता माहूंनाग का मंदिर भी है और इलाके में देवता के प्रति काफी ज्यादा आस्था है.

महिला के घर में तोड़फोड़ भी की

देवता के पुजारी की तीन वर्ष पूर्व मृत्यु हो गई है. उसके बाद देवता का अभी तक कोई पुजारी तय नहीं हुआ है. लेकिन कुछ तथाकथित लोग खुद को देवता का सेवक बताकर लोगों को देवता के नाम पर डराने का काम कर रहे हैं. इस गांव में मौजूद समाज और धर्म के कुछ ठेकेदारों ने 81 वर्षीय राजदेई पर लोगों पर जादूटोना करने का आरोप लगा दिया. इसके अलावा लोग राजदेई को घर गए और वहां पर तोड़फोड़ कर दी. जब इस बात का पता राजदेई को चला तो वह बरच्छवाड़ से अपने गांव आई और पंचायत को इसकी शिकायत दी. पंचायत के सामने भी देवता के ठेकेदारों ने महिला को देवता का डर दिखाया और शिकायत वापिस लेने का दबाव बनाया. बुजुर्ग ने शिकायत वापिस ले ली और दोबारा अपनी बेटी के पास चली गई.


Loading...

हाल ही में यह बुजुर्ग फिर से अपने गांव आई तो इन्हीं समाज और धर्म के ठेकेदारों ने फिर से महिला को अपना निशाना बना लिया. इस बार इन लोगों ने पहले बुजुर्ग महिला के सिर के बाल काटे, फिर उसका मुहं काला किया और उसके बाद उसे जूतों की माला पहनाकर देवरथ के आगे पूरे गांव में घसीटा. बुजुर्ग महिला कई बार उसे छोड़ देने की गुहार लगाती रही लेकिन धर्म के ठेकेदारों ने उसकी एक न सुनी. खुद गांव वालों ने ही इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो भी बनाया जो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुआ.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें:

पूर्व मुख्यमंत्री को मुफ़्त सुविधाओं के लिए इसी विधानसभा सत्र में आएगा विधेयक, कानून बनने से पहले ही चुनौती की तैयारी

श्रीनगर जल विद्युत परियोजना की नहर में रिसाव से कई गांवों पर मंडरा रहा ख़तरा... जीवीके बेपरवाह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मंडी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 18, 2019, 10:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...