अपना शहर चुनें

States

मंडी: 19 में शादी, 21 साल में प्रधान बनी खीरामणि, जबना चौहान का रिकॉर्ड बरकरार

खीरामणी सीएम के हल्के सराज से है.
खीरामणी सीएम के हल्के सराज से है.

Youngest Prdhan of India: मैदान में थी. खीरामणी को जयवंती ठाकुर ने कड़ी टक्कर दी. जयवंती को 553 वोट मिले जबकि खीरामणी को 578 वोट मिले और इस तरह से खीरामणी ने 25 वोटों से जीत दर्ज की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 19, 2021, 1:22 PM IST
  • Share this:
मंडी. हिमाचल प्रदेश में पंचायत चुनाव 2021 (Himachal Elections) का पहला चरण हो चुका है और दूसरे चरण के लिए 19 जनवरी को वोटिंग हो रही है. पहले चरण में युवा चेहरे चुनकर आ रहे हैं.

पिछले पंचायत चुनावों की बात करें तो मंडी जिला के सराज क्षेत्र के तहत आने वाली ग्राम पंचायत थरजून से जबना चौहान चुनकर आई थी. जबना चौहान को उस वक्त देश की सबसे युवा सरपंच होने का खिताब मिला था और यह खिताब मौजूदा समय में भी बरकरार है. जब जबना चौहान बतौर पंचायत प्रधान चुनी गई थी तो उस वक्त उसकी उम्र 21 साल 2 महीने थी. अब सराज क्षेत्र की ही एक अन्य महिला प्रत्याशी ने दूसरे पायदान पर अपना नाम दर्ज करवा लिया है. सराज क्षेत्र के तहत आने वाली कल्हणी पंचायत से खीरामणी 21 साल 10 महीने की उम्र में बतौर सरपंच चुनकर आई हैं.

जबना अब भी सबसे युवा प्रधान



खीरामणी की जन्मतिथ 12 मार्च 1999 है. उस हिसाब से खीरामणी की वर्तमान आयु 21 वर्ष 10 महीने बनती है. जबना चौहान की जन्मतिथि 11 नवंबर 1994 है. जनवरी 2016 में जब जबना पंचायत प्रधान चुनकर आई थी तो उस वक्त जबना की आयु 21 वर्ष 2 महीने थी. उस हिसाब से जबना चौहान के नाम अभी तक देश की सबसे युवा सरपंच होने का रिकार्ड कायम है. हालांकि, जबना चौहान इस बार पंचायत का चुनाव नहीं लड़ रही है. खीरामणी मूलतः सराज क्षेत्र के तहत आने वाली दुर्गम पंचायत कल्हणी के थाच गांव की रहने वाली हैं. दो वर्ष पूर्व खीरामणी की शादी इसी पंचायत के मुकेश कुमार के साथ हुई थी. मुकेश कुमार शारटी स्कूल में बतौर डीपीई कार्यरत हैं. खीरामणी ने बातचीत में बताया कि उन्हें इस बात का गर्व है कि पंचायत के लोगों ने एक युवा उम्मीदवार पर अपना भरोसा जताया है. उन्होंने पंचायत के सर्वांगिण विकास की बात दोहराई है.
भाजपा की विचारधारा

बकौल खीरामणी वह भाजपा की विचारधारा से समर्थित हैं लेकिन पंचायत के विकास में वह कभी पार्टी को बीच में नहीं लेकर आएंगी बल्कि पूरी पंचायत का एक समान दृष्टि से विकास करवाएंगी. बता दें कि कल्हणी पंचायत इस बार महिलाओं के लिए आरक्षित हुई थी.

खीरामणी के पति पेशे से शिक्षक हैं.


दो प्रत्याशियों की मात
खीरामणी ने भी बतौर उम्मीदवार अपना नामांकन भरा था. उनके साथ दो अन्य महिलाएं मैदान में थी. खीरामणी को जयवंती ठाकुर ने कड़ी टक्कर दी. जयवंती को 553 वोट मिले जबकि खीरामणी को 578। इस तरह से खीरामणी ने 25 वोटों से जीत दर्ज की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज