हर सरकारी सुविधा से महरूम है यह विधवा, कहा- अब जीना नहीं मरना बेहतर समझती हूं

सिरमौर जिले में एक विधवा आदिमानव की तरह जीवन जीने के लिए मजबूर है. इस महिला के पास रहने के लिए न तो सुरक्षित मकान है, न शौचालय न खाने के लिए पर्यात भोजन और न ही खाना पकाने के लिए गैस सिलेंडर.

News18 Himachal Pradesh
Updated: June 16, 2019, 1:09 PM IST
News18 Himachal Pradesh
Updated: June 16, 2019, 1:09 PM IST
हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले में एक विधवा आदिमानव की तरह जीवन जीने के लिए मजबूर है. 70 साल की यह महिला सिरमौर के दुर्गम क्षेत्र पोटा मानल पंचायत के मानीयो गांव में रहती है. सरकार सभी को मकान, शौचालय,बिजली,गैस सिलेंडर जैसी तमाम सुविधाओं के देने के दावा कर रही है. मगर इस महिला के पास रहने के लिए न तो सुरक्षित मकान  है, न शौचालय न खाने के लिए पर्यात भोजन और न ही खाना पकाने के लिए गैस सिलेंडर. जो घर है उसकी हालत ऐसी है कि जरा सी बारिश में कोने-कोने में पानी चूने लगता है और पूरी रात बैठ कर गुजारनी पड़ती हैं.

जंगल से लानी पड़ती हैं लकड़ियां-

विधवा महिला लकड़ी के उपर मुश्किल से खाना बनाती है. उसे केंद्र की उज्ज्वला और प्रदेश की जयराम  सरकार की उस गृहणी सुविधा का लाभ नहीं मिल पाया, जिसके तहत मुफ्त सिलेंडर वितरित की जाती है. महिला का कहना है की खाना बनाने के लिए जंगल से बड़ी मुशिकल से लकडियां ला पाती है. घर में बिजली का भी कनेक्शन नहीं है. ऐसे में दिन के उजाले में  ही किसी तरह खाना पकाकर और खाकर सो जाती है. महिला के पास घर में जलाने के लिए न मोमबती है न दिये के लिए तेल.

कभी खाया-कभी बिना खाये सो जाती हूं-

7 साल पहले महिला के पति का देहांत हो चुका है. इसके बाद वह अकेले में ही लकड़ी के टूटे हुए मकान में गुजारा कर रही है. बिना बिजली कनेक्शन के रात को अंधेरे में भी डर लगता है.  विधवा दुर्गी देवी आदिमानव की तरह अपना जीवन व्यतीत कर रही हैं. महिला की हालत इतनी खराब है कि कई बार भूखे पेट सोना पड़ता है.

विधवा पेंशन से नहीं होता गुजारा-

सरकारी मदद के नाम पर एक हजार रूपये की विधवा पेंशन जरूर मिलती है लेकिन अपना गुजारा करने के लिए वह नाकाफी है. आसपास रहने वाले लोगों ने बताया कि यह महिला बहुत गरीब है. सरकार द्वारा इन्हें कोई सुविधा नहीं दी गई है. लोगों ने बताया की इनका पुराना मकान कभी भी भरभराकर गिर सकता है.
ये भी पढ़ें- उड़ता ऊना : तेजी से बढ़ रहा है चिट्टे का कारोबार, डेढ़ साल में दर्ज हुए 55 मामले

ये भी पढ़ें-हमीरपुर : शादी का झांसा देकर शख्स ने 25 साल की युवती के साथ किया रेप
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...