लोकसभा चुनाव 2019: 60 साल बाद सिरमौर से चुना गया सांसद, लोगों को बड़ी उम्मीदें

शिमला से जीते सुरेश कश्यप.

लोगों ने इस बात पर भी खुशी जताई है कि भाजपा ने सिरमौर से उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतारा. हालांकि, ये देखने वाली बात होगी कि नए सांसद जिला के लोगों की उम्मीदों पर कितना खरा उतर पाते हैं.

  • Share this:
लोकसभा चुनाव 2019 के परिणामों के बाद सिरमौर जिला को करीब 60 सालों के बाद सुरेश कश्यप के रूप में सांसद मिला है जिससे सिरमौर जिला के लोगों को कई उम्मीदें बंधी हैं.

पिछड़ा जिला माने जाने वाले सिरमौर को करीब 60 साल बाद सांसद मिला है शिमला संसदीय सीट पर इस बार सुरेश कश्यप बतौर सांसद चुने गए, जो सिरमौर जिला के पछाद विधानसभा क्षेत्र से ताल्लुक रखते है. इससे पहले, वर्ष 1957 में शिवानन्द रमौल सांसद चुने गए थे जो सिरमौर के धारटी धार से तालुक रखते थे. सुरेश कश्यप के सांसद चुने जाने के बाद लोगों की उम्मीदें बढ़ गई हैं.

खासकर लोगों को उम्मीद है कि कई दशकों से अटका हाटी समुदाय को जनजातीय क्षेत्र घोषित करने का मुद्दा सिरे चढ़ सकता है. समुदाय के लोग पिछले करीब 5 दशकों से जनजातीय क्षेत्र घोषित करने की मांग कर रहे हैं. लोगों का कहना है कि केंद्र व प्रदेश दोनों जगहों पर बीजेपी की सरकार है तो मुद्दा सिरे चढ़ने की उम्मीद है. लोगों ने उम्मीद जताई कि पर्यटन की अपार संभावनाएं संजोए सिरमौर जिला में पर्यटन को पंख लग सकते है. लोगों ने उम्मीद जताई कि पर्यटन की दिशा में भी सांसद जरूर कुछ कदम उठाएंगे.

लोगों ने इस बात पर भी खुशी जताई है कि भाजपा ने सिरमौर से उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतारा. हालांकि, ये देखने वाली बात होगी कि नए सांसद जिला के लोगों की उम्मीदों पर कितना खरा उतर पाते हैं.

कौन हैं सुरेश कश्यप
सिरमौर जिले के पच्छाद के मौजूदा विधायक सुरेश कश्यप का जन्म 23 मार्च 1971 को बजगा के पतलाह गांव में हुआ. उनकी माता शांति देवी और पिता का नाम चंमेल सिंह है. सुरेश कश्यप ने प्राइमरी और माध्यमिक शिक्षा गागल शिकोर स्कूल और हाई स्कूलिंग नाहन के सराहां से की. 24 अप्रैल 1988 को वह एयरफोर्स में भर्ती हुए और 16 वर्षों तक सेवाएं दी.

एयरफोर्स से रिटायर हुए

वर्ष 2004 में एयरफोर्स से एसएनसीओ के पद से रिटायर हुए. एयर फोर्स में नौकरी के दौरान ही उन्होंने लोक प्रशासन में एमए व टूरिजम व पीजीडीसीए में डिप्लोमा किया है. एयर फोर्स से रिटायर होने के बाद लोक प्रशासन में एमफिल किया. उन्होंने शिमला सीट से कांग्रेस के दो बार के सांसद रहे धनीराम शांडिल को हराया और पहली बार संसद पहुंचे हैं. वह 3 लाख 27 हजार वोटों से जीते हैं.

ये भी पढ़ें: PWD वर्कर की पिटाई, ढांक से फेंका, पीठ पर खून से लिखा ‘चोर’

कांगड़ा में फौजी बेटे और भतीजे ने पिता को मौत के घाट उतारा

नाबालिग छात्रा का अश्लील फोटो सोशल मीडिया पर वायरल किया, FIR

हिमाचल के तीन जाबांजों ने एवरेस्ट पर फहराया तिरंगा

पूर्व कांग्रेस CPS भारती बोले-‘राहुल गांधी की भक्ति छोड़ो‘

हिमाचल के किन्नौर में फंसे छह ट्रैकर, एक की मौत

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.