• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • सिरमौर जिला परिषद पर भाजपा का कब्जा, कांग्रेस बोली - गुंडागर्दी और धनबल का हुआ इस्तेमाल

सिरमौर जिला परिषद पर भाजपा का कब्जा, कांग्रेस बोली - गुंडागर्दी और धनबल का हुआ इस्तेमाल

सिरमौर जिला परिषद पर कब्जे के बाद भाजपा के जीत का जश्न.

सिरमौर जिला परिषद के 17 वॉर्डों में कांग्रेस और भाजपा के 8-8 सदस्य जीते थे, 1 वॉर्ड में निर्दलीय की जीत हुई थी, जिसने कांग्रेस को समर्थन दिया था. पर अचानक कांग्रेस की एक सदस्य ने बीजेपी को समर्थन दे दिया.

  • Share this:

    नाहन. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के सिरमौर जिला परिषद (Sirmaur Zilla Parishad) पर भाजपा (BJP) ने कब्जा जमा लिया है. भाजपा समर्थित जिला परिषद सदस्य सीमा कन्याल (Seema Kanyal) को जिला परिषद का अध्यक्ष चुना गया है. कांग्रेस (Congress) ने चुनाव में बीजेपी पर गुंडागर्दी और धनबल के इस्तेमाल करने के आरोप लगाए हैं.

    जिला परिषद सभागार में अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद के लिए मतदान हुआ, जिसमें बीजेपी को बहुमत मिला. बीजेपी समर्थित सीमा कन्याल अध्यक्ष, जबकि कांग्रेस समर्थित जिला परिषद सदस्य अंजना शर्मा ने भाजपा को समर्थन देकर उपाध्यक्ष का पद हासिल किया. भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुरेश कश्यप ने मीडिया से कहा कि बीजेपी की जीत प्रदेश के जयराम सरकार के विकास कार्यों की जीत है. उन्होंने प्रदेश व जिला के सभी वरिष्ठ नेताओं सहित जिला परिषद की नवनिर्वाचित अध्यक्ष और उपाध्यक्ष को भी बधाई दी. सुरेश कश्यप ने कहा कि लोगों ने समर्थन देकर प्रदेश सरकार के कार्यक्रमों और नीतियों पर मुहर लगाई है.

    कांग्रेस नेताओं ने इन चुनाव में भाजपा पर गुंडागर्दी और धनबल के इस्तेमाल करने के आरोप लगाए हैं. कांग्रेस नेताओं का कहना है कि बीजेपी समर्थित जिला परिषद सदस्य को जबरन उठाया गया और उसे दबाव बनाकर अपने पक्ष में लिया गया. कांग्रेस ने इस पूरे प्रकरण को लोकतंत्र की हत्या करार दिया. इनका कहना है कि निर्दलीय उम्मीदवार के समर्थन के बाद कांग्रेस पूरी तरह से बहुमत में थी. कांग्रेस का कहना है कि मंत्री सुखराम चौधरी कांग्रेस समिति जिला परिषद सदस्य को अपनी गाड़ी में बैठा कर चुनाव स्थल तक पहुंचाते हैं, जो सीधे तौर पर जनादेश का अपमान है.

    वहीं, जिला परिषद की नवनिर्वाचित अध्यक्ष सीमा कन्याल ने सहयोग के लिए जिला परिषद सदस्यों का आभार जताया. उन्होंने कहा कि वह भाजपा हाईकमान की आभारी हैं, जिन्होंने इस पद के लिए उनको चुना. उन्होंने कहा कि वह लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरेंगी.

    सिरमौर जिला में जिला परिषद के कुल 17 वॉर्ड हैं, जिनमें 8 पर कांग्रेस और 8 पर भाजपा समर्थित सदस्यों ने जीत दर्ज की थी. निर्दलीय का समर्थन मिलने के बाद कांग्रेस बहुमत में नजर आ रही थी. मगर अंतिम समय में कांग्रेस की ही एक महिला सदस्य ने भाजपा को समर्थन दिया. जिसके बाद भाजपा ने बहुमत में आकर जिला परिषद पर कब्जा किया.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज