Home /News /himachal-pradesh /

Sirmour News: आमरण अनशन पर बैठे गौ सेवक सचिन को पुलिस ने जबरन उठाया

Sirmour News: आमरण अनशन पर बैठे गौ सेवक सचिन को पुलिस ने जबरन उठाया

. गौ सेवक सचिन को पुलिस सुरक्षा के बीच डॉ वाईएस परमार मेडिकल कॉलेज नाहन पहुंचाया गया.

. गौ सेवक सचिन को पुलिस सुरक्षा के बीच डॉ वाईएस परमार मेडिकल कॉलेज नाहन पहुंचाया गया.

Cow in Himachal: हिमाचल प्रदेश में सड़कों के बेसहारा पशुओं के घूमने से आए दिन लगातार हादसे हो रहे हैं. लोगों की जान जा रही है. लेकिन सरकार केवल हवा-हवाई दावे करती है. सूबे में शराब की बोतल पर गोसेवा सैस भी सरकार की ओर से लिया जा रहा है.

अधिक पढ़ें ...

नाहन. हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले (Sirmour) में पांवटा साहिब के रामलीला मैदान में आमरण अनशन पर बैठे गोसेवक सचिन ओबरॉय को आखिरकार पुलिस ने उठा लिया है. शुक्रवार सुबह-सवेरे पुलिस (Sirmour Police) दलबल के साथ आमरण अनशन (Fast) स्थल पर पहुंची और जबरन गौ सेवक को आमरण अनशन से उठाया गया.

गौ सेवक सचिन को पुलिस सुरक्षा के बीच डॉ वाईएस परमार मेडिकल कॉलेज नाहन पहुंचाया गया. मीडिया द्वारा सवाल पूछे जाने पर सचिन ने बताया कि प्रशासन द्वारा उनको जबरन अनशन से उठाया गया है और उनके आमरण अनशन तोड़ने की कोशिश की जा रही है. उन्होंने कहा कि फिलहाल उनकी तबीयत ठीक है. बावजूद इसके उनको वहां से पुलिस कर्मी द्वारा उठाया गया है.

sirmour news. himachal, cow on roads

सचिन ओबरॉय गोवंश से जुड़ी कई मांगों को लेकर आमरण अनशन पर पिछले 4 दिनों से बैठे हुए थे.

क्या है सचिन की मांग
गौर हो कि सचिन ओबरॉय गोवंश से जुड़ी कई मांगों को लेकर आमरण अनशन पर पिछले 4 दिनों से बैठे हुए थे. इनका कहना है कि गोवंश के संरक्षण को लेकर कोई कदम प्रशासन व सरकार द्वारा नहीं उठाए जा रहे है. बेसहारा गाय सड़कों पर घूम रही है. आए दिन दुर्घटनाओं का भी शिकार हो रही है. वहीं जिला में मौजूद गौशालाओं की हालत भी बेहद दयनीय है.

सडकों पर हैं हिमाचल में गायें
हिमाचल में कई इलाकों में सड़कों पर गायें घूमने से हादसे हो रहे हैं.हालांकि, हिमाचल को बेसहारा पशुओं को आश्रय देने के लिए सरकार गोसदनों और गो अभ्यारण्यों का निर्माण कर रही है. लेकिन सड़कों पर गायों की संख्या बढ़ती ही जा रही है. ऊना के गसोता के गोसदन का निर्माण हो रहा है, जो तीन माह में पूरा कर लिया जाएगा. वहीं, हमीरपुर के सुजानपुर के निकट खैरी में लगभग काऊ सेंक्चुयरी बनकर तैयार है. दावा है कि सोलन और सिरमौर जिले को पहले बेसहारा पशुमुक्त बना दिया गया है. गाय की अन्य नस्लों के संरक्षण एवं संव‌र्द्धन के लिए भी ऊना में लगभग साढ़े 47 करोड़ से आधुनिक केंद्र स्थापित किया जाएगा.

Tags: Cow Slaughter, Himachal Police, Nahan

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर