चेतावनी के बावजूद गिरी नदी में गिराया जा रहा है मलबा, पॉवर प्रोजेक्ट को हो रहा नुकसान

सिरमौर जिला के दादाहू में गिरी नदी के तट पर स्थानीय लोगों और बिल्डरों द्वारा मलबा गिराया जा रहा है. मलबा गिराने की वजह से नदी का तट डंपिंग यार्ड में तब्दील होता जा रहा है. गौरतलब है कि गिरी नदी पॉवर प्रोजेक्ट की ओर से यहां चेतावनी बोर्ड भी लगाया गया है. जिसमें साफ तौर पर लिखा है कि इस इलाके में मलबा गिराना प्रतिबंधित है. इसके बावजूद यहां धड़ल्ले से मलबा गिराया जा रहा है. बता दें गिरी नदी के किनारे मलबा गिराए जाने के कारण गिरी पॉवर प्रोजेक्ट को बिजली उत्पादन करने में भारी क्षति का सामना करना पड़ रहा है. दरअसल, बरसात के मौसम में यह मलबा बहकर जटोन बैराज में सिल्ट के रूप में जमा हो जाता है. जिससे बिजली उत्पादन क्षमता में भारी कमी आती है.

satish sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 17, 2019, 2:43 PM IST
satish sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 17, 2019, 2:43 PM IST
सिरमौर जिला के दादाहू में गिरी नदी के तट पर स्थानीय लोगों और बिल्डरों द्वारा मलबा गिराया जा रहा है.  मलबा गिराने की वजह से नदी का तट डंपिंग यार्ड में तब्दील होता जा रहा है. गौरतलब है कि गिरी नदी पॉवर प्रोजेक्ट की ओर से यहां चेतावनी बोर्ड भी लगाया गया है. जिसमें साफ तौर पर लिखा है कि इस इलाके में मलबा गिराना प्रतिबंधित है. इसके बावजूद यहां धड़ल्ले से मलबा गिराया जा रहा है. बता दें गिरी नदी के किनारे मलबा गिराए जाने के कारण गिरी पॉवर प्रोजेक्ट को बिजली उत्पादन करने में भारी क्षति का सामना करना पड़ रहा है. दरअसल, बरसात के मौसम में यह मलबा बहकर जटोन बैराज में सिल्ट के रूप में जमा हो जाता है. जिससे बिजली उत्पादन क्षमता में भारी कमी आती है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नाहन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 17, 2019, 2:43 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...