• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • VIDEO: पांवटा के 104 वर्षीय धूड़राम स्वीप कार्यक्रम में आइकन की भूमिका निभाएंगे

VIDEO: पांवटा के 104 वर्षीय धूड़राम स्वीप कार्यक्रम में आइकन की भूमिका निभाएंगे

हिमाचल प्रदेश के पांवटा निर्वाचन क्षेत्र के गांव बनौर निवासी 104 वर्षीय धूड़ू राम सिरमौर जिला में लोकसभा चुनाव के स्वीप कार्यक्रम में प्रमुख आइकन की भूमिका निभाएंगे. धूड़ू राम प्रदेश के सबसे वरिष्ठ मतदाता हैं.

  • Share this:
हिमाचल प्रदेश के पांवटा निर्वाचन क्षेत्र के गांव बनौर निवासी 104 वर्षीय धूड़ू राम सिरमौर जिला में लोकसभा चुनाव के स्वीप कार्यक्रम में प्रमुख आइकन की भूमिका निभाएंगे. धूड़ू राम प्रदेश के सबसे वरिष्ठ मतदाता हैं. जिला सिरमौर मेें लोकसभा चुनाव के दौरान मतदाताओं को जागरूक करने के लिए धूड़ू राम अहम भूमिक निभाएंगे. इनका संदेश सिरमौर जिले में घर घर तक पहुंचाया जाएगा. धूड़ू राम इस समय अपने परिवार में अपनी चैथी पीढ़ी के साथ रह रहे हैं.

पांवटा निर्वाचन क्षेत्र में जिला प्रशासन ने वरिष्ठ मतदाता को ढूंढ कर उन्हें सम्मान दिया है. धूड़ू राम के आधार कार्ड और मतदाता पहचान पत्र में इनकी आयु एक जुलाई 1915 अंकित है. धूड़ू राम पेशे से पंडिताई का कार्य करते रहे हैं और अपने क्षेत्र के जाने माने पंडित रहे हैं.

धूड़ू राम इस समय अपने परिवार में अपनी चौथी पीढ़ी के साथ पांवटा साहिब में रह रहे हैं. धूड़ू राम के तीन बेटे है, जिनमें एक बेटा डाक विभाग से सेवानिवृत हुए हैं, दूसरा बेटा अध्यापक था जिसका निधन हो गया है और तीसरा बेटा घर पर कार्य करता है. धूड़ू राम के पोते और पड़पोते हो गए हैं.

धूड़ू राम ने कहा कि उनके द्वारा अंग्रेजों और रियासत काल का समय भी अच्छे तरीके देखा है और स्वतंत्र भारत में अनेकों बार मतदान भी कर चुके हैं. उन्होने कहा कि लोकतंत्र के इस महापर्व में सभी लोगों को अपना मतदान करना चाहिए, तभी सुदृढ़ सरकार का गठन हो सकता है.
उम्र के इस पड़ाव में भी धूडू राम चुस्त-दुरूस्त हैं और अपने सभी काम करने में सक्षम हैं.

मीडिया से धूडूराम शर्मा ने अपने अनुभव भी साझा किए. धूडू राम ने पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नहरू से लेकर नरेन्द्र मोदी तक प्रधानमंत्री देखे हैं. वो जवाहर लाल नेहरू और अटल बिहारी बाजपेई सबसे अच्छे प्रधानमंत्री मानते हैं. चुनाव के पुराने और नए तरीकों में तुलना करते हुए धूडू राम कहते हैं कि मतदान का नया तरीका ज्यादा बेहतर है.

यह भी पढ़ें: गिरीपार को 50 साल से नहीं मिला जनजातीय क्षेत्र का दर्जा, BJP ने 2014 में किया था वादा

यह भी पढ़ें:  VIDEO: शिमला जल प्रबंधन निगम का दावा नहीं होगा इस बार पेयजल संकट

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज