सिरमौर: जंगल में मिले दालों के खाली पैकेट, सरकारी राशन में घोटाले की आशंका से हड़कंप

नाहन में खुले में फेंके गए सरकारी दालों के पैकेट.

नाहन में खुले में फेंके गए सरकारी दालों के पैकेट.

विभाग ने एक बार फिर इस मामले पर भी जांच बिठा दी है. इस बार विभाग की जांच किसी नतीजे तक पहुंचती है या फिर यह जांच भी विभाग की फाइलों में कैद होकर रहती है, यह अब इंतजार का विषय है.

  • Share this:
नाहन. हिमाचल प्रदेश के सिरमौर में जिला मुख्यालय नाहन में पुलिस लाइन के समीप कोठड़ी मार्ग पर सरकारी डिपो मे सप्लाई होने वाली दालों के एक साथ सैकड़ों की संख्या में खाली पैकेट मिलने से हड़कंप मच गया है. सरकार द्वारा सार्वजनिक वितरण प्रणाली (PDS) के तहत प्रदेश के राशन कार्ड धारकों को यह दालें वितरित की जाती है. अक्सर डिपो में कभी दालें तो कभी तेल की सप्लाई को लेकर सवाल उठते रहे हैं. ऐसे में अचानक एक साथ सैकड़ों दालों के खाली पैकेट मिलने से सरकार और विभाग पर सवालिया निशान लगना लाजिमी है. मामले के सामने आने के बाद जिला खाद्य एवं आपूर्ति नियंत्रक अधिकारी ने अन्य अधिकारियों के साथ मौके का दौरा किया जिक्से बाद अब गहनता से मामले की जांच की जा रही है.

दालों के रेपर पर 2019 की डेट छपी हुई है. यह रैपर इतनी भारी मात्रा में जंगल में कहां से आए, यह जांच का विषय है. लोगों में भी यह मामला चर्चा का विषय बना हुआ है और घोटाले की भी आशंका जताई जा रही है. इससे पहले नाहन में 17 मई 2020 को भी यशवंत बिहार के पास सरकारी दालों के खाली पैकेट मिले थे, मगर हैरानी की बात है कि एक साल बीतने के बाद भी विभाग की जांच में कुछ नहीं निकल पाया है. एक तरफ सरकारी उचित मूल्यों की दुकानों में उपभोक्ताओं की कतारें दिनों-दिन बढ़ रही हैं. वहीं, जंगल में सरकारी दालों के खाली पैकेट मिलने से कहीं न कहीं घपलेबाजी की बू आ रही है.

नाहन में मौके पर पहुंचे अफसर.


एक बार फिर से जांच
विभाग ने एक बार फिर इस मामले पर भी जांच बिठा दी है. देखा होगा की इस बार विभाग की जांच किसी नतीजे तक पहुंचती है या फिर यह जांच भी विभाग की फाइलों में कैद होकर रहती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज