जरा संभल कर! इस साल बहुत कठिनाइयों से भरी है हेमकुंड साहिब यात्रा

उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्र के पेट्रोल पंप से डीजल और पेट्रोल नहीं मिल पा रहा है, जिसके चलते घंटों तक जाम में लोग फंसे रहे.

Rajesh Kumar | News18 Himachal Pradesh
Updated: June 9, 2019, 6:46 PM IST
जरा संभल कर! इस साल बहुत कठिनाइयों से भरी है हेमकुंड साहिब यात्रा
हेमकुंड साहिब गुरुद्वारा
Rajesh Kumar | News18 Himachal Pradesh
Updated: June 9, 2019, 6:46 PM IST
उत्तराखंड के गढ़वाल में स्थित सिक्खों के पवित्र धाम हेमकुंड साहिब के कपाट खुल चुके हैं. हेमकुंड साहिब की यात्रा 1 जून से शुरू भी हो चुकी है. पांवटा साहिब होते हुए हज़ारों की संख्या में श्रद्धालु हेमकुंड साहिब के लिए रवाना हो रहे हैं. इस यात्रा का मुख्य पड़ाव पांवटा साहिब गुरुद्वारा है, जहां यात्रा पर जाने से पहले व यात्रा पूरी करने के बाद श्रद्धालु रात्रि विश्राम के लिए रुकते हैं.

अपनी यात्रा पूरी कर पांवटा साहिब पहुंचे श्रद्धालुओं ने बताया कि इस बार उनकी यात्रा कठिन रही है. उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्र के पेट्रोल पंप से डीजल और पेट्रोल नहीं मिल पा रहा है, जिसके चलते घंटों तक जाम में लोग फंसे रहे. रोजाना 5 से 6 घंटे का जाम आम बात है. इतना ही नहीं, इस बार यात्रा के दौरान परेशानियां झेल चुके लोगों ने जाम और वहां की स्थिति का वीडियो भी वायरल किया है, जिसमें कुछ दिनों तक यात्रा पर न निकलने की अपील की गई है.

हेमकुंड साहिब में भारी बर्फ जमी हुई है
हालांकि, यात्री वापस पहुंचे हैं. उन्होंने श्रद्धालुओं से अपील की है कि वो अपनी गाड़ियों में तेल की व्यवस्था करके चलें और विकट परिस्थितियों से निपटने के लिए पहले से तैयार रहें, क्योंकि इस बार की यात्रा कठिन और जोखिम भरी है. अभी भी हेमकुंड साहिब में भारी बर्फ है. वीडियो संदेश देखने के बाद से भी श्रद्धालुओं का मनोबल कम नहीं हुआ है, बल्कि वे अब पूरी तैयारी के साथ यात्रा के लिए आगे बढ़ रहे हैं.

यह भी पढ़ें: रोहतांग टनल निर्माण को लेकर सीएम जयराम ठाकुर ने BRO से ​किया ये आग्रह

दहेज के चलते 28 वर्षीय योगिता की ली जान, पति, सास और ननद गिरफ्तार
First published: June 9, 2019, 2:33 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...