लोकसभा चुनाव 2019: करारी हार के बाद हिमाचल कांग्रेस उपाध्यक्ष का इस्तीफा
Nahan News in Hindi

लोकसभा चुनाव 2019: करारी हार के बाद हिमाचल कांग्रेस उपाध्यक्ष का इस्तीफा
कांग्रेस उपाध्यक्ष ने दिया इस्तीफा.

इस्तीफा देने के बाद अजय बहादुर ने कहा कि वह कांग्रेस उम्मीदवार के पक्ष में सकारात्मक परिणाम नहीं ला सके.

  • Share this:
बीजेपी ने लोकसभा चुनाव 2019 में हिमाचल प्रदेश की चारों सीटों पर जीत का परचम फहराया है. पार्टी के लचर प्रदर्शन को देखते हुए हिमाचल कांग्रेस के उपाध्यक्ष ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है.

नाहन के पूर्व विधायक और कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता अजय बहादुर सिंह ने हिमाचल प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर को अपना त्‍यागपत्र भेजा है. इस्तीफा देने के बाद अजय बहादुर ने कहा कि वह कांग्रेस उम्मीदवार के पक्ष में सकारात्मक परिणाम नहीं ला सके, इसलिए इस्तीफा सौंपा है. हालांकि, उन्होंने ताउम्र कांग्रेस पार्टी के साथ खड़े रहने का आश्वासन दिया.

कांग्रेस के दिग्गज नेता वीरभद्र सिंह ने कहा है कि अगर एक साल पहले पार्टी ने प्रदेश के पूर्व अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू को हटा दिया होता तो नतीजे कुछ और होते. हिमाचल प्रदेश के लोकसभा चुनाव के इतिहास में इस बार कई रिकॉर्ड बने और कई टूटे. लोगों ने खुलकर भाजपा के पक्ष में वोट डाले हैं.



इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि हिमाचल प्रदेश की सभी विधानसभा क्षेत्रों से भाजपा को जबरदस्त लीड मिली. सूबे में 68 विधानसभा क्षेत्र हैं. यहां 21 पर कांग्रेस और 44 पर भाजपा का कब्जा है. कांग्रेस विधायक अपने-अपने क्षेत्रों में भी पार्टी को लीड दिलाने में नाकामयाब साबित हुए.
हिमाचल की चारों सीटें भाजपा को
गौरतलब है कि हिमाचल प्रदेश में भाजपा को चारों सीटों पर जीत हासिल हुई है. कांगड़ा से भाजपा के उम्मीदवार किशन कपूर ने कांग्रेस के पवन काजल को 4,77,623 मतों से पराजित किया. किशन कपूर को 7,25,218 और पवन काजल को 2,47,595 मत हासिल हुए. शिमला से भाजपा के उम्मीदवार सुरेश कश्यप ने कांग्रेस के धनी राम शांडिल को 3,27,515 मतों से पराजित किया.

सुरेश कश्यप को 6,06,183, जबकि धनी राम शांडिल को 2,78,668 मत प्राप्त हुए. मंडी से भाजपा के उम्मीदवार राम स्वरूप शर्मा ने कांग्रेस प्रत्याशी आश्रय शर्मा को 4,05,459 मतों से पराजित किया. राम स्वरूप शर्मा को 6,47,189, जबकि आश्रय शर्मा ने 241730 मत प्राप्त किए. वहीं, हमीरपुर से अनुराग ठाकुर को 6,68,812 वोट मिले और उन्होंने रामलाल ठाकुर को हराया. रामलाल को 2.81 लाख वोट मिले.

ये भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019: हिमाचल में BJP की 4 सीटों पर धमाकेदार जीत

लोस चुनाव: इन 6 वजहों से अनुराग ठाकुर ने लगाया जीत का ‘चौका’

दादा सुखराम को रिक़ॉर्ड जीत मिली थी, पोते की रिकॉर्ड हार

मंडी से कांग्रेस प्रत्याशी आश्रय शर्मा की हार के पांच कारण!

55 साल के सियासी जीवन में ऐसी हार कभी नहीं देखी-वीरभद्र सिंह
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज