11वीं में छोड़ी पढ़ाई, 18 साल के हिमाचली युवक ने बनाया रोबोट, US से मिले प्री-लॉन्च ऑर्डर

satish sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: August 27, 2019, 11:17 AM IST
11वीं में छोड़ी पढ़ाई, 18 साल के हिमाचली युवक ने बनाया रोबोट, US से मिले प्री-लॉन्च ऑर्डर
नाहन का ईशांत पूंडीर रोबोट के साथ.

ईशांत पुंडीर (Ishant Pundir) ने अपने रोबोट (Robot) की जानकारी सोशल साइट पर डाली तो इशांत को प्रीलॉन्च आर्डर भी मिलना शुरू हो गए, ईशांत को अभी यूएसए (US) से दो प्रीलॉन्च ऑर्डर मिल चुके हैं. साथ ही ईशांत का कहना है कि इसके द्वारा बनाए गए रोबोट को खूब सराहा जा रहा है और इसकी डिमांड भी की जा रही है.

  • Share this:
दिल में कुछ कर गुजरने की तमन्ना हो तो सपनों को उड़ान मिल ही जाती है ऐसा ही कुछ कर दिखाया है हिमाचल के सिरमौर (Sirmour) जिले के नाहन के मोगीनंद निवासी के 18 वर्षीय युवक इशांत पुंडीर ने. उसने अपने बूते घर पर ही रोबोट (Robot) बना दिया.

जानकारी के अनुसार, मोगीनंद के 18 वर्षीय ईशांत ने 11वीं कक्षा में पढ़ाई छोड़ दी और अपने सपने को साकार करने की ठान ली. दरअसल इशांत को बचपन से ही रोबोट बनाने का शौक था. ईशांत के माता-पिता ने भी बेटे की लगन और तेज बुद्धि को भाप लिया. लिहाजा पढ़ाई करने का दबाव नहीं बनाया और हर संभव साथ दिया. 2 साल के भीतर ही ईशांत घर बैठकर रोबोट बना रहा है, खास बात यह भी है कि इसकी प्रोग्रामिंग और डिजाइन खुद तैयार किया है.

बचपन से था शौक
ईशांत पुंडीर ने बताया कि बचपन से ही उसे रोबोट (Robot) बनाने का शौक था और फिर मन में विचार आया कि क्यों न इसे व्यवसाय के तौर पर शुरू किया जाए और आखिरकार उसने यह रोबोट तैयार किया है, जिसको ASPER का नाम दिया गया है. दरअसल, यह यह चलने वाला रोबोट नहीं है. यह रोबोट आपकी आवाज को पहचान कर आपके ऑर्डर की पालना करेगा. साथ ही यह टचस्क्रीन से भी आपके आदेश को स्वीकार करेगी. यह हिंदी और इंगलिश दोनों में आदेश लेता है.

Nahan Ishant Pundir Robot
मोगीनंद के 18 वर्षीय ईशांत ने 11वीं कक्षा में पढ़ाई छोड़ दी और अपने सपने को साकार करने की ठान ली.


ऐसे करेगा आपकी मदद
यह रोबोट पर्सनल असिस्टेंट की तरह काम करेगा. इस रोबोट के जरिए आप रिमाइंडर सेट कर सकते हैं, मार्केट लिस्ट तैयार कर सकते हैं मौसम के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं, इसके अलावा कई ऐसे कार्य हैं, जो यह रोबोट आसानी से कर लेता है. इसके लिए रोबोट को साथ ले जाने की भी आवश्यकता नहीं होगी. क्योंकि यह रोबोट वाईफाई कनेक्टिविटी के माध्यम से आपके मोबाइल लैपटॉप या कंप्यूटर से अटैच हो जाता है, जो आपके आदेशानुसार कार्य करता रहेगा, जिसकी जानकारी आपको इन उपकरणों से मिलती रहेगी.
Loading...

यूएस से मिले ऑर्डर
ईशांत पुंडीर ने अपने रोबोट की जानकारी सोशल साइट पर डाली तो इशांत को प्रीलॉन्च आर्डर भी मिलना शुरू हो गए, ईशांत को अभी यूएसए से दो प्रीलॉन्च ऑर्डर मिल चुके हैं. साथ ही ईशांत का कहना है कि इसके द्वारा बनाए गए रोबोट को खूब सराहा जा रहा है और इसकी डिमांड भी की जा रही है.


यह बोली मां
ईशांत की मां हेमंती पुंडीर का कहना है कि बचपन से ही ईशांत को मेकेनिकल से लगाव था. ईशांत घर पर आने वाले सब खिलौनों को तोड़कर उसकी रिपेयरिंग में जुट जाता था. धीरे-धीरे इशांत का शोक आगे बढ़ता गया और आज उसने और रोबोट बनाने शुरू कर दिए. उन्होंने कहा कि बच्चे की इस कामयाबी से परिवार बेहद खुश है.

ये भी पढ़ें: HPTDC होटल लीज मामला: बवाल के बाद CM ने दिए जांच के आदेश

टनल में दो ट्रकों के बीच पिचक गई जीप, चालक की मौत

टीचर ने बच्ची को पीटा, ‘बालों में शैंपू करके क्यों नहीं आती‘

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नाहन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 27, 2019, 10:56 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...