लाइव टीवी
Elec-widget

रिटायर्ड गवर्नमेंट टीचरों ने कूड़ा बीनने और भीख मांगने वाले बच्चों को शिक्षित करने का उठाई जिम्मेदारी

Rajesh Kumar | News18 Himachal Pradesh
Updated: December 4, 2019, 5:16 PM IST
रिटायर्ड गवर्नमेंट टीचरों ने कूड़ा बीनने और भीख मांगने वाले बच्चों को शिक्षित करने का उठाई जिम्मेदारी
पांवटा में ​सरकारी स्कूलों से रिटायर हुई महिला शिक्षिकों ने गरीब बच्चों को शिक्षित करने का बीड़ा उठाया है.

सिरमौर जिले के पांवटा साहिब में शिक्षा विभाग (Education Department) से सेवानिवृत अध्यापिकाएं (Retired Teacher) झुग्गी-झोपड़ी (Slums) में रहने वाले गरीब बच्चों के जीवन में शिक्षा की लौ जलाने का काम कर रही है. अध्यापिकाओं का प्रयास कूड़ा बीनने और भीख मांगने वाले बच्चों के जीवन में शिक्षा का उजाला फैला रहा है.

  • Share this:
सिरमौर. हिमाचल प्रदेश में सिरमौर जिले के पांवटा साहिब में शिक्षा विभाग से सेवानिवृत अध्यापिकाएं (Retired teacher) झुग्गी-झोपड़ी (Slums) में रहने वाले गरीब बच्चों के जीवन में शिक्षा (Education) की लौ जलाने का काम कर रही है. सेवानिवृत्त अध्यापिकाओं का प्रयास कूड़ा बीनने और भीख मांगने वाले बच्चों के जीवन में शिक्षा का उजाला फैला रहा है. पांवटा साहिब की एक समाजसेवी संस्था प्रयास की महिलाओं ने मद्रासी कॉलोनी के बच्चों को नगर में कूड़ा बीनते और भीख मांगते देखा. इसके बाद उन्होंने इन बच्चों का भविष्य संवारने का मन बना लिया. संस्था ने बच्चो के परिजनों से बातचीत की तो वह अपने बच्चों को इनके पास ट्यूशन के लिए भेजने को तैयार हो गए. इन बच्चों को ना केवल किताबी ज्ञान दिया बल्कि अच्छे संस्कार भी सिखाये जा रहे है.

इन बच्चों को ​ट्यूशन के दौरान खाना भी दिया जा रहा है

सेवानिवृत्त शिक्षिका व समाजसेविका डॉ. सुधा कालिया ने कहा कि बच्चों को ट्यूशन के दौरान खाने और पीने की चीजें भी दी जाती हैं ताकि उनका मानसिक व शारीरिक विकास एक साथ होता रहा. इस पुनीत कार्य में शहर के कुछ दानी लोग भी सहयोग कर रहे हैं.

शिक्षा विभाग से सेवानिवृत इन अध्यापिकाओं ने जो बीड़ा उठाया है, उसके माध्यम से गरीब बच्चों के जीवन के शिक्षा व संस्कारों को लौ जल उठी है. यदि समाज के अन्य लोग भी गरीब बच्चों के लिए इसी तरह से कार्य करें तो झुग्गी-झोपड़ी में जीवन जी रहे ये बच्चे भी भविष्य में कुछ बन सकते है और इनके जीवन में भी खुशियां आ सकती हैं.



यह भी पढ़ें:  पुलिस स्थापना दिवस: कई IPS की खुली पोल, ड्रिल और सैल्यूट में दिखी चूक

शिमला के बुक कैफे में अब नहीं दिखेंगे कैदी, MC ने निजी हाथों में सौंपी चाबी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नाहन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 4, 2019, 4:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...