होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /Lumpy Skin Disease: सिरमौर में लंपी संक्रमण से 800 पशुओं की मौत, 5 हजार एक्टिव केस

Lumpy Skin Disease: सिरमौर में लंपी संक्रमण से 800 पशुओं की मौत, 5 हजार एक्टिव केस

हिमाचल में अब तक लंपी स्किन बीमारी से 4567 पशुओं की मौत हो चुकी है, जबकि 83,790 पशु संक्रमित हुए हैं.

हिमाचल में अब तक लंपी स्किन बीमारी से 4567 पशुओं की मौत हो चुकी है, जबकि 83,790 पशु संक्रमित हुए हैं.

Lumpy Skin Disease in Himachal: 22 सितम्बर, 2022 तक प्रदेश के नौ जिलों में 87,645 पशु इस रोग से ग्रसित पाए गए और 5019 ग ...अधिक पढ़ें

नाहन. हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिला में लंपी लंपी संक्रमण से अभी तक इस संक्रमण से करीब 800 पशुओं की मौत हो चुकी है. वहीं हजारों की संख्या में पशु संक्रमित है. बढ़ता संक्रमण चिंता का विषय बन रहा है. नाहन में पत्रकारों से बातचीत के दौरान डीसी सिरमौर रामकुमार गौतम ने कहा कि संक्रमण को रोकने के लिए सिरमौर जिला में कई टीमों का गठन किया गया है, जो सूचना के बाद तुरंत मौके पर पहुंचती हैं.

उन्होंने कहा कि लंपी संक्रमण के मामलों में लगातार गिरावट आ रही है, पहले जहां प्रतिदिन 500 मामले सामने आते थे इनकी सँख्या घटकर 300 रह गई है.  डीसी ने कहा कि इस समय सिरमौर जिला में मौजूदा समय में 5 हजार के करीब  लंपी संक्रमण के एक्टिव मामले हैं, जबकि 7 हजार पशु इस संक्रमण से ठीक हो चुके हैं. उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा पंचायत प्रतिनिधियों से भी इस मामले में सहयोग की अपील की गई है.

अब तक 87 हजार पशु संक्रमित

22 सितम्बर, 2022 तक प्रदेश के नौ जिलों में 87,645 पशु इस रोग से ग्रसित पाए गए और 5019 गौवंश की मृत्यु दर्ज की गई. अब तक 45,425 पशु इस बीमारी से ठीक हो चुके हैं. प्रदेश में अभी तक इस रोग की संक्रमण दर 3.65 प्रतिशत तथा मृत्यु दर 5 प्रतिशत के करीब है. प्रदेश में इस बीमारी के लिए संवेदनशील पशुओं की कुल संख्या 24,00,638 हैं. इस बीमारी से प्रभावित क्षेत्रों के आसपास 5 किलोमीटर के दायरे में रोग प्रतिरोधी टीकाकरण किया जा रहा है तथा अब तक 2,37,748 गायों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है. स्थानीय निकायों के माध्यम से विभिन्न स्थानों पर मक्खी-मच्छर की रोकथाम के लिए कीटनाशक दवाइयों का छिड़काव किया जा रहा है.

Tags: Lumpy Skin Disease, Shimla News

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें