पढ़िए, हिमाचल में बारिश के सीजन में क्यों लगाई जाती है धारा 144

हिमाचल प्रदेश में आगामी बरसात के सीजन को देखते सिरमौर में धारा 144 लागू कर दिया गया है.

satish sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: June 25, 2019, 2:10 PM IST
satish sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: June 25, 2019, 2:10 PM IST
हिमाचल प्रदेश में आगामी बरसात के सीजन को देखते सिरमौर में धारा 144 लागू कर दिया गया है. पहाड़ी राज्यों में बारिश के सीजन में अचानक से नदी और नालों के जलस्तर में बढ़ोतरी हो जाती है और अगर एहतियात न बरतें जाएं तो जानमाल का बहुत नुकसान हो सकता है. वर्ष 2018 में हिमाचल प्रदेश में बाढ़ ने बहुत तबाही मचाई थी.  इस घटना से सबक लेते हुए सिरमौर जिला प्रशासन ने बरसात के सीजन को देखते हुए तमाम तैयारियां पूरी कर ली हैं ताकि किसी भी प्रकार के हालात से निपटा जा सके.

लोगों से नदी और नालों के आसपास ना जाने की अपील

सिरमौर जिला उपायुक्त ललित जैन ने बताया कि बरसात के मौसम को लेकर प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट है और तमाम तैयारियां पूरी कर ली गई है बरसात के दौरान नदी नालों का जल स्तर बढ़ जाता है ऐसे में लोग नदी नालों के इर्द गिर्द पिकनिक मनाने न जाए इसलिए प्रशासन ने धारा 144 लागू कर दी है। डीसी ने कहा कि लोगों से आह्वान किया जा रहा है कि वह ऐसे मौसम में ही नदी नालों के आसपास ना जाए।

हर 15 किलोमीटर पर खड़ी रहेगी जेसीबी मशीन

ललित जैन ने बताया कि स्टेट हाईवे और राष्ट्रीय राजमार्ग पर हर 15 किलोमीटर के बाद जेसीबी मशीन खड़ी रहेगी. यदि बरसात की वजह से भूस्खलन और पहाड़ दरकते हैं और मलबा सड़कों पर जमा होता है तो उसे तत्काल हटाने के लिए ये मशीनें तैनात रहेंगी. पहाड़ों में बरसात के दिनों में सड़कें अवरुद्ध हो जाती हैं और एक इलाके का दूसरे इलाके से संपर्क पूरी तरह से कट जाता है. उन्होंने बताया कि इस बारे में लोक निर्माण विभाग को महत्वपूर्ण निर्देश जारी कर दिए गए हैं.

आपदा की सूचना के लिए टोल फ्री नंबर जारी किया

बरसात के दौरान किसी भी तरह की आपदा की सूचना देने के लिए प्रशासन ने टोल फ्री नंबर 1077 जारी किया है.
यह भी पढ़ें: ऊना में रेलवे लाइन के पास मिली सड़ी गली महिला की लाश

सैंकड़ों हरे पेड़ों पर देहरा नगर परिषद की मिलीभगत से चली आरी
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...