लाइव टीवी

पच्छाद उपचुनाव में बागी दयाल प्यारी ने बढ़ाई BJP की मुश्किलें, प्रचार में उतरी मंत्रियों की फौज

satish sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: October 7, 2019, 1:28 PM IST
पच्छाद उपचुनाव में बागी दयाल प्यारी ने बढ़ाई BJP की मुश्किलें, प्रचार में उतरी मंत्रियों की फौज
पच्छाद सीट से चुनाव में जीत पक्की करने के लिए बीजेपी पार्टी के नेताओं ने प्रचार में खुद को झोंक दिया है. (File Photo)

प्रदेश सरकार ने जातिगत समीकरणों को भुनाने के अलावा क्षेत्रीय मुद्दों को कईं हिस्सों में बांट कर प्रदेश के कैबिनेट मंत्रियों की ड्यूटी चुनाव प्रचार में लगाई गई है.

  • Share this:
नाहन. पच्छाद उपचुनाव (Pachad By Election) प्रदेश की सत्तारूढ़ सरकार के लिए साख का सवाल बन गया है. दयाल प्यारी (Dyal Pyari) के निर्दलीय नामांकन के बाद मैदान में उतरने से भाजपा (BJP) हर कदम फूंक-फूंक कर रख रही है. हिमाचल प्रदेश में पच्छाद विधानसभा सीट (Pachad Assembly Seat) को लेकर प्रदेश सरकार के दिग्गज अलग-अलग क्षेत्रों में पार्टी प्रत्याशी की जीत के लिए लोगों की नब्ज टटोल रहे हैं. यही वजह है कि प्रदेश सरकार ने जातिगत समीकरणों को भुनाने के अलावा क्षेत्रीय मुद्दों को कईं हिस्सों में बांट कर प्रदेश के कैबिनेट मंत्रियों की ड्यूटी चुनाव प्रचार में लगाई गई है.

पच्छाद सीट के लिए ये नेता कर रहे हैं दिन रात एक

राजनीतिक कौशल व चुनाव जीतने में चैंपियन माने जाने वाले सिंचाई एवं बागवानी मंत्री महेंद्र सिंह चुनाव प्रचार की कमान संभाल रहे हैं. उनके सहयोग के लिए शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज, समाज एवं महिला व बाल कल्याण मंत्री डॉ राजीव सहजल, पार्टी के वरिष्ठ नेता व मुख्य सचेतक नरेंद्र ब्रागटा के अलावा सांसद सुरेश कश्यप, पार्टी संगठन महामंत्री चंद्र मोहन ठाकुर, विपणन बोर्ड के चैयरमेन बलदेव भंडारी, खाद्य आपूर्ति निगम के उपाध्यक्ष बलदेव तोमर, कैलाश फैडरेशन के चैयरमेन रवि मेहता, खाद्य ग्राम उद्योग बोर्ड के उपाध्यक्ष पुरषोत्तम गुलेरिया व सिरमौर, सोलन व शिमला जिला के भाजपा विधायक, जिला अध्यक्ष विनय गुप्ता जैसे वरिष्ठ भाजपा नेता पार्टी प्रत्याशी रीना कश्यप की जीत को सुनिश्चित बनाने के लिए दिन-रात एक कर रहे है.

Jairam Thakur
पच्छाद उपचुनाव बीजेपी की नाक का सवाल बन गया है. यही वजह है कि बीजेपी ने चुनावी प्रचार में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. (File Photo)


केंद्र के वरिष्ठ नेताओं की हो सकती है रैलियां

प्रदेश के अलावा सीमावर्ती राज्यों के लोगों की नजरें पच्छाद विधानसभा उपचुनाव पर टिकी हुई हैं. बीजेपी ने चुनावी प्रचार में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. आने वाले दिनों में केंद्र के किसी वरिष्ठ नेता के चुनावी रैली की तैयारियां भी अंदर खाते में चल रही हैं.

हर हाल में पच्छाद सीट जीतना चाहेगी बीजेपी 
Loading...

बीजेपी से बागी हुई बतौर आज़ाद उम्मीदवार चुनाव लड़ रही दयाल प्यारी के चुनावी मैदान में उतरने के बाद बीजेपी के माथे पर चिंता की लकीरे साफ़ नजर आ रही हैं. बीजेपी को यहां भितरघात की भी आशंका है. पच्छाद सीट के लिए पार्टी से टिकट चाहने वालों की कतारें लंबी थी. ऐसे में यहां भितरघात से बिलकुल भी इनकार नही किया जा सकता है. कुल मिलाकर यह चुनाव सरकार की लोकप्रियता व टिकट आवंटन के निर्णय पर प्रतिष्ठा का प्रश्न बन गया है. भाजपा इस सीट को किसी भी हाल में खोना नहीं चाहती.

यह भी पढ़ें: हिमाचल का प्रषुम्न ISRO में जिओस्टेशनरी लांच व्हीकल बनाने वाली टीम में शामिल

गजब! खेत जोतने के लिए बाप-बेटे ने स्कूटर और बाइक के इंजन से बना डाला 'ट्रैक्टर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नाहन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 7, 2019, 1:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...