अपना शहर चुनें

States

हिमाचल उपचुनाव: पच्छाद से BJP नेता दयाल प्यारी और आशीष सिक्टा ने की बगावत

पच्छाद में सीएम के काफिले के दौरान नारेबाजी करते भाजपा वर्कर.
पच्छाद में सीएम के काफिले के दौरान नारेबाजी करते भाजपा वर्कर.

By-Election in Himachal: दयाल प्यारी और आशीष सिक्टा दोनों ही भाजपा की टिकट की रेस में शामिल थे. दोनों का नाम केंद्रीय संसदीय बोर्ड को भेजा गया था, लेकिन बाद में टिकट रीना कश्यप को दिया गया है.

  • Share this:
पच्छाद (सिरमौर). हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में पच्छाद विधानसभा सीट (Pacchad Seat) पर उपचुनाव (By-Election) के लिए नामांकन के अंतिम दिन भाजपा में बगावत हो गई है. पच्छाद सीट से भाजपा की नेता दयाल प्यारी (Dyal Pyari) और आशीष सिक्टा ने बगावत कर दी है. दोनों ने ही आजाद अपना नामांकन भरा है. ऐसे में भाजपा (BJP) की मुश्किलें बढ़ गई हैं. बता दें कि भाजपा ने यहां से रीना कश्यप को मैदान में उतारा है और अब इसका विरोध शुरू हो रहा है.

सीएम के सामने नारेबाजी
पच्छाद सीट से रीना कश्यप (Reena Kashyup) को सोमवार को नामांकन दाखिल किया. मौके पर सीएम जयराम ठाकुर भी पहुंचे हुए थे. इस दौरान बीजेपी की प्रत्याशी रीना कश्यप और आजाद उम्मीदवार आशीष सिक्टा  (Aashish Sikta) के समर्थकों में जमकर नारेबाजी होती रही. सीएम जयराम ठाकुर की मौजूदगी में माहौल तनावपूर्ण होने पर पुलिस समर्थकों को इधर-उधर हटाती रही.

दोनों ने आजाद भरा नामांकन
पच्छाद सीट पर आशीष सिक्टा और दयाल प्यारी बीजेपी से बागी होते हुए आजाद नामांकन भरा है. गौरतलब है कि उम्मीदवारों की सूची फाइनल होने से पहले ही दोनों ही टिकट के दावेदारों में थे. यही नहीं, दोनों को हिमाचल भाजपा ने दिल्ली भेजे उम्मीदवारों के पैनल में शामिल किया था.





दयाल प्यारी ने रोकर मीडिया को सुनाया दुखड़ा
भाजपा की दयाल प्यारी ने इस दौरान रोते हुए मीडिया को अपना दुखड़ा सुनाया.उन्होंने कहा कि इससे पहले वह दुर्गा थी और अब काली का रूप धारण करेंगी. दयाल प्यारी ने कहा कि पार्टी ने मेरे साथ नाइंसाफी की है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से वह न्याय की गुहार लगाएंगी. दयाल प्यारी ने कहा कि उन्होंने सीएम जयराम ठाकुर से भी गुहार लगाई थी, लेकिन किसी ने उनकी मांग नहीं सुनी. इलाके के कार्यकर्ता उनके साथ हैं और ये मुझे न्याय दिलाएंगे. यहां तानाशाही चल रही है.

दयाल प्यारी ने मीडिया को सुनाया दुखड़ा.
दयाल प्यारी ने मीडिया को सुनाया दुखड़ा.


आशीष सिक्टा भी हुए बागी
भाजपा के युवा नेता और टिकट की रेस में चल रहे आशीष सिक्टा ने भी बगावत का बिगुल बजा दिया है. उन्होंने भी आजाद नामांकन भरा है. बता दें कि सिक्टा भी टिकट की रेस में थे और भाजपा की ओर से केंद्रीय हाईकमान को भेजे पैनल में इनका नाम शामिल था.बता दें कि इन सबका मुकाबला अब कांग्रेस के सात बार के विधायक रहे गंगूराम मुसाफिर से होगा. गंगू राम मुसाफिर पच्छाद से विधायक रहे हैं. हालांकि, वह 2012 से इस सीट पर हार का सामना कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें: हिमाचल उपचुनाव: जानिये, कौन हैं BJP के प्रत्याशी विशाल नैहरियां और रीना कश्यप

हिमाचल भाजपा अध्यक्ष सत्ती के खिलाफ मानहानि का केस करूंगा: सुधीर शर्मा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज