लाइव टीवी

अंतरराष्ट्रीय रेणुका मेले का दूसरा दिन, एकादशी पर हजारों श्रद्धालुओं ने किया शाही स्नान

satish sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: November 8, 2019, 1:46 PM IST
अंतरराष्ट्रीय रेणुका मेले का दूसरा दिन, एकादशी पर हजारों श्रद्धालुओं ने किया शाही स्नान
अंतरराष्ट्रीय रेणुका जी मेले में एकादशी के दिन विभिन्न राज्यों से शाही स्नान करने पहुंचे श्रद्धालु

अंतरराष्ट्रीय श्री रेणुका जी (Renuka Fair) मेले के दूसरे दिन हजारों श्रद्धालुओं ने एकादशी पर झील में शाही स्नान (Royal Bath on Ekadashi) किया. श्रद्धालुओं का कहना है कि एकादशी के दिन यहां स्नान करना बेहद शुभ माना जाता है. ऐसी मान्यता है कि आज के दिन यहां स्नान करने से व्यक्ति पाप मुक्त हो जाता है.

  • Share this:
नाहन. अंतरराष्ट्रीय श्री रेणुका जी (Renuka Fair) मेले के दूसरे दिन हजारों श्रद्धालुओं ने एकादशी पर झील में शाही स्नान (Royal Bath on Ekadashi) किया. यहां न केवल हिमाचल प्रदेश बल्कि बाहरी राज्यों से भी भारी तादाद में श्रद्धालु स्नान करने पहुंचे हैं. पवित्र रेणुका झील में सुबह करीब 4 बजे से शाही स्नान शुरू हुआ. लगातार शाही स्नान का दौर जारी है. श्रद्धालुओं का कहना है कि एकादशी के दिन यहां स्नान करना बेहद शुभ माना जाता है. ऐसी मान्यता है कि आज के दिन यहां स्नान करने से व्यक्ति पाप मुक्त हो जाता है. साथ ही लोगों की सारी मनोकामनाएं पूरी (Wishes Fulfilled) हो जाती है.

माता रेणुका व भगवान परशुराम से जुड़ी है आस्था

यहां आए श्रद्धालुओं ने बताया कि माता रेणुका (Renuka) व भगवान परशुराम (Parshuram) से उनकी आस्था जुड़ी हुई है. इस तीर्थ स्थल पर आकर जो भी मन्नत मांगी जाती है वह पूरी हो जाती है. मेले के दूसरे दिन हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं ने माता रेणुका और भगवान परशुराम के मंदिरों में शीश नवाया. यहां आए एक श्रद्धालु ने कहा कि एकादशी के पर्व को श्रद्धालु बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं. यहां श्रद्धालु हरियाणा, पंजाब, दिल्ली सहित अन्य दूर दूर जगहों से आते हैं. उन्होंने कहा कि यह परंपरा सैकड़ों सालों से चली आ रही है. आज झील में स्नान करना अति उत्तम माना जाता है.

श्रद्धालु ने कहा कि यहां के जल और माता के दर्शन से उनका मन पवित्र हुआ है.


पूरी होती है श्रद्धालुओं की मनोकामनाएं 

एक अन्य श्रद्धालु ने कहा कि यहां के जल और माता के दर्शन से हमारा मन पवित्र हुआ है. संतान वृद्धि हुई है और सारी मनोकामनाएं पूरी हुई हैं. वहीं एक अन्य श्रद्धालु ने कहा कि काफी लंबे समय से श्रद्धालुओं की इस झील से आस्था जुड़ी हुई है. ऐसी मान्यता है कि यहां स्नान करने से लोगों की मनोकामनाएं पूरी होती हैं. बता दें कि मां बेटे के मिलन का प्रतीक रेणुका जी मेले की शुरुआत कल गुरुवार से हुई है. मेले में क्षेत्र के विभिन्न जगहों से देव पालकियां भी पहुंची हैं. ऐसे में श्रद्धालुओं को एक साथ कई देवी देवताओं के दर्शन करने का अवसर प्राप्त हुआ है.

ये भी पढ़ें - VIDEO: युवती को जबरन KISS किया, साथी युवक को पीटा, 3 आरोपी गिरफ्तार
Loading...

ये भी पढ़ें - नगर परिषद नालागढ़ वार्ड संख्या-8 के चारों प्रत्याशियों को चुनाव चिह्न आबंटित

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नाहन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 8, 2019, 1:35 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...