Home /News /himachal-pradesh /

केदार सिंह जिंदान हत्याकांड: मारपीट और गाड़ी से कुचलने वाले दो दोषियों को आजीवन कारावास

केदार सिंह जिंदान हत्याकांड: मारपीट और गाड़ी से कुचलने वाले दो दोषियों को आजीवन कारावास

बहुचर्चित केदार सिंह जिंदान (Kedar Singh Jindan) हत्याकांड में तीन आरोपियों को कोर्ट ने दोषी करार दिया है.

बहुचर्चित केदार सिंह जिंदान (Kedar Singh Jindan) हत्याकांड में तीन आरोपियों को कोर्ट ने दोषी करार दिया है.

Sirmour Kedar Singh Jindaan Murder case: अभियोग पक्ष ने विशेष अदालत में 44 गवाह पेश हुए और बचाव पक्ष ने दो गवाह पेश किये. मामले की पैरवी जिला न्यायवादी बीएन शांडिल ने की. तीनों आरोपियों ने गाड़ी से डंडे निकालकर केदार जिंदान से मारपीट की और केदार सिंह सड़क पर गिर गया. आरोपी जयप्रकाश ने लोहे की रॉड से जिंदान के सिर पर वार किए और उसे गाड़ी से कुचल दिया.

अधिक पढ़ें ...

नाहन. हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले में शिलाई के बकरास में बहुचर्चित केदार सिंह जिंदान (Kedar Singh Jindaan Murder case ) हत्याकांड में तीन आरोपियों को कोर्ट ने दोषी करार दिया है. सिरमौर के विशेष न्यायाधीश आरके चरी की अदालत ने आरोपी जयप्रकाश को दोषी करार देते हुए आईपीसी (IPC) की धारा 302 तथा एससी व एसटी एक्ट की धारा 3 (2) में आजीवन कारावास तथा एक लाख रुपये जुर्माना लगाया है. जुर्माना न देने पर एक वर्ष का अतिरिक्त सजा होगी. उसके अलावा गोपाल सिंह और कर्म सिंह को भी दोषी करार दिया गया है.

जिला न्यायवादी के मुताबिक, 7 सितम्बर 2018 केदार सिंह जिंदान, रघुवीर सिंह और जगदीश बीआरसी जब अपने दफ्तर से बाहर निकले तो जय प्रकाश, उप प्रधान ग्राम पंचायत बकरास, कर्म सिंह उर्फ काकू और गोपाल सिंह सड़क पर खड़े थे.

जय प्रकाश और कर्म सिंह गाड़ी से उतर कर नैन सिंह से मिले और दोनों ने नैन सिंह से हाथ मिलाया. करीब 12 बजे दोपहर जब मृतक केदार सिंह जिंदान, रघुवीर सिंह और जगदीश चंद कार्यालय से बाहर निकले तो आरोपी जयप्रकाश ने केदार जिंदान को सड़क पर आने के लिए कहा. इस पर केदार जिंदान आ गया. बाद में तीनों में बहस शुरू हो गई. तीनों आरोपियों ने गाड़ी से डंडे निकालकर केदार जिंदान से मारपीट की और केदार सिंह सड़क पर गिर गया. आरोपी जयप्रकाश ने लोहे की रॉड से जिंदान के सिर पर वार किए और उसे गाड़ी से कुचल दिया.

मामले में 44 गवाह पेश हुए
अभियोग पक्ष ने विशेष अदालत में 44 गवाह पेश हुए और बचाव पक्ष ने दो गवाह पेश किये. मामले की पैरवी जिला न्यायवादी बीएन शांडिल ने की. साथ ही उप जिला न्यायवादी एकलव्य व संजय पंडित ने भी सहयोग किया. बाद में मामले ने प्रदेश भर में काफी तूल पकड़ा था. क्योंकि जिदान दलित समाज से आते थे और काफी चर्चित नाम थे.

Tags: Brutal Murder, Himachal pradesh, Nahan, Shimla police

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर