5 जून तक सिरमौर को प्लास्टिक मुक्त करने का लक्ष्य, अभियान को लेकर व्यापारियों से मांगा सहयोग

नाहन में जिला खाद्य नियंत्रक अधिकारी ने प्लास्टिक मुक्त अभियान को लेकर की बैठक
नाहन में जिला खाद्य नियंत्रक अधिकारी ने प्लास्टिक मुक्त अभियान को लेकर की बैठक

सिरमौर (Sirmaur) जिला को 5 जून तक प्लास्टिक मुक्त (plastic free) करने का लक्ष्य रखा गया है. ऐसे में जिला खाद्य एवम आपूर्ति विभाग ने प्लास्टिक मुफ्त अभियान (Plastic free campaign) व स्वच्छ भारत अभियान (Swachh Bharat Abhiyan) के मद्देनजर व्यापारियों (merchants) से सहयोग की अपील की है.

  • Share this:
नाहन. हिमाचल प्रदेश के सिरमौर (Sirmaur) जिला को 5 जून तक प्लास्टिक मुक्त (plastic free) करने का लक्ष्य रखा गया है. ऐसे में अब सिरमौर जिला खाद्य एवम आपूर्ति विभाग ने प्लास्टिक मुफ्त अभियान (Plastic free campaign) व स्वच्छ भारत अभियान (Swachh Bharat Abhiyan) के मद्देनजर व्यापारियों (merchants) से सहयोग की अपील की है. साथ ही विभाग ने कहा है कि यदि कोई व्यापारी इस आदेश को नहीं मानेगा तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

जिला खाद्य नियंत्रक अधिकारी ने व्यापारियों के साथ की बैठक

नाहन (Nahan) में जिला खाद्य नियंत्रक अधिकारी आदित्य बिंद्रा ने व्यापार मंडल के प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर व्यापारियों से सिरमौर को प्लास्टिक मुक्त करने के लिए सहयोग मांगा. आदित्य बिंद्रा ने कहा कि 25 जनवरी के बाद सरकार के निर्देशानुसार प्लास्टिक का इस्तेमाल करने वाले दुकानदारों के चालान काटे जा रहे, इसलिए व्यापारियों से प्लास्टिक का इस्तेमाल न करने के लिए सहयोग मांगा जा रहा है.



विभाग का आदेश न मानने पर होंगी कार्रवाई
वहीं बैठक में पहुंचे व्यापारमंडल के प्रतिनिधियों ने विभाग को पूर्ण सहयोग देने का आश्वासन दिया है. व्यापार मंडल के जिला अध्यक्ष प्रकाश जैन ने बताया कि जिला के सभी दुकानदारों को इस बारे में व्यापार मंडल की तरफ से इस बारे में पूर्ण सहयोग की अपील की जाएंगी, ताकि प्लास्टिक मुक्त अभियान को सफल बनाया जा सके. गौरतलब है कि जिले में पॉलीथीन से सड़कों का भी निर्माण किया जा रहा है.  ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा देशभर के 732 जिलों में से चार को पॉलीथीन के बेहतर कार्य में निष्पादन करने के लिए चुना गया था, जिसमें कि पहले स्थान पर असम राज्य का डिब्रूगढ़, दूसरे स्थान पर हिमाचल प्रदेश का जिला सिरमौर, तीसरे स्थान पर उड़ीसा का पूरी तथा चौथे स्थान पर मध्य प्रदेश का इंदौर जिला आंका गया था.

यह भी पढ़ें- कांगडा में धमाका: डीएवी कॉलेज और रेस्टोरेंट के शीशे टूटे, ढाबा-साइकिल गोदाम खाक़

यह भी पढ़ें- BSNL की हालत खस्ता: धर्मशाला जोन से 221 कर्मचारी-अधिकारी रिटायर, VRS ली
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज