होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /

किन्नौर के भाबानगर में भारी भूस्खलन, पहाड़ से बड़ी-बड़ी चट्टानों के गिरने से नेशनल हाईवे 5 बंद

किन्नौर के भाबानगर में भारी भूस्खलन, पहाड़ से बड़ी-बड़ी चट्टानों के गिरने से नेशनल हाईवे 5 बंद

बड़े-बडे़ चट्टानों के गिरने के कारण नेशनल हाईवे संख्या 5 को वाहनों की आवाजाही के लिए बंद करना पड़ा.

बड़े-बडे़ चट्टानों के गिरने के कारण नेशनल हाईवे संख्या 5 को वाहनों की आवाजाही के लिए बंद करना पड़ा.

किन्नौर जिले में विभिन्न स्थानों पर भुस्खलन के कारण भारी चट्टानों के गिरने का सिलसिला जारी है. इससे इस पहाड़ी इलाके में सफर कर रहे यात्रियों में भी भय का माहौल बना हुआ है. वहीं प्रशासन द्वारा भी अनावश्यक यात्रा करने से बचने के लिए लोगों से अपील की जा रही है.

अधिक पढ़ें ...

अरुण कुमार नेगी
किन्नौर. हिमाचल प्रदेश के किन्नौर में स्थित भाबानगर के पास सोमवार को पहाड़ी पर भारी भूस्खलन हुआ. इस दौरान बड़े-बडे़ चट्टानों के गिरने के कारण नेशनल हाईवे संख्या 5 को वाहनों की आवाजाही के लिए बंद करना पड़ा. इस भूस्खलन के कारण सड़क मार्ग अवरुद्ध होने से दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लग गई. इस दौरान छोटे और बड़े वाहनों की आवाजाही पूरी तरह बंद हो गई है.

पहाड़ी से चट्टानों के गिरने से कोई जनहानि की खबर नहीं है. हालांकि इस घटना के वीडियो में देखा जा सकता है कि लोग जान जोखिम में डालकर इसी सड़क पर खड़े थे. इसके बाद पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और लोगों को सड़क मार्ग बहाल होते तक सड़क मार्ग पार करने से रोका.

देखें वीडियो:-

सौभाग्य से चट्टानों के गिरते समय कोई भी वाहन इसकी चपेट में नहीं आया. वाहन चालकों ने पहले ही सावधानी बरतते हुए वाहनों को रोक दिया था. इससे किसी भी प्रकार के जानमाल का नुकसान नहीं हुआ. हालांकि अभी भी पहाड़ी गिरने का खतरा बना हुआ है.

एसडीएम भाबानगर बिमला वर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि अवरुद्ध मार्ग को खोलने के लिए एनएच प्राधिकरण व एसजेवीएनएल द्वारा मशीनों की तैनाती कर दी गई है और जल्द ही यातायात बहाल कर दिया जाएगा.

बता दें कि किन्नौर जिले में विभिन्न स्थानों पर भुस्खलन के कारण भारी चट्टानों के गिरने का सिलसिला जारी है. इससे इस पहाड़ी इलाके में सफर कर रहे यात्रियों में भी भय का माहौल बना हुआ है. वहीं प्रशासन द्वारा भी अनावश्यक यात्रा करने से बचने के लिए लोगों से अपील की जा रही है.

Tags: Himachal news, Kinnaur News, Landslide

अगली ख़बर