VIDEO: जनमंच कार्यक्रम में भिड़े कांग्रेस विधायक और भाजपाई मंत्री

मंत्री सरवीण चौधरी ने बताया कि यह कुछ लोगों की आदत हो गई है कि जनमंच में अड़ंगा डाला जाए. किन्नौर में इससे पूर्व के जनमंच में भी इस तरह के उदाहरण सामने आए हैं.

News18 Himachal Pradesh
Updated: June 17, 2019, 1:19 PM IST
News18 Himachal Pradesh
Updated: June 17, 2019, 1:19 PM IST
हिमाचल प्रदेश सरकार की ओर से आयोजित जनमंच कार्यक्रम में हंगामा हो गया. मामला किन्नौर जिले का है. कार्यक्रम के दौरान कांग्रेस विधायक और मंत्री सरवीण चौधरी आपस में भिड़ गए.

जानकारी के अनुसार, रविवार को किन्नौर के रिकॉन्ग पिओ में मिनी स्टेडियम में जनमंच कार्यक्रम था. एक महिला प्रधान ने सिंचाई एवं जन स्वस्थ्य विभाग की कमियों को लेकर लिखित कार्यवाई की मांग की.

लिखित जवाब मांगने पर बवाल
जैसे ही कार्यक्रम में शुदारंग पंचायत की इस महिला प्रधान ने लिखित जबाब मांगा तो कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रही सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने सरवीण चौधरी ने पलटवार कर कहा कि क्या पंचायत में वह लिखित जबाब देती हैं? फिर क्या था कि मंच पर बैठे किन्नौर के विधायक जगत सिंह नेगी और मंत्री जी की आपस मे ही आपस मे उलझ गए. जैसे-तैसे मामला शांत हुआ ही था कि एक बार फिर नोतोड़ मामले को लेकर मंत्री और विधायक किन्नौर आमने सामने आ गए. दोनो में काफी चर्चा के बाद मामले ने तब तूल पकड़ा, जब मंच पर ही बैठे प्रदेश वन निगम के उपाध्यक्ष सूरत नेगी नेगी बीच मे आए.

ये बोले कांग्रेस विधायक
मंच पर मंत्री के सामने दोनों के बीच काफी नोक-जोंक हुई तो पंडाल में बैठे कुछ लोगों ने खड़े होकर सूरत नेगी मुर्दाबाद के नारे लगाकर विरोध किया. विधायक जगत सिंह नेगी के साथ नारेबाजी करते हुए पंडाल से बाहर निकल गए. विधायक किन्नौर जगत सिंह नेगी ने मीडिया के सामने आकर बताया कि एक महिला मंत्री होने के बावजूद मंत्री ने महिला प्रधान को डांटकर महिला का अपमान किया है. उन्होंने कहा मंत्री का रवैया ठीक नहीं है. चुने हुए प्रधानों को बोलने नहीं दिया जा रहा है. यही नहीं, मंच पर ऐसे लोग बैठे हैं, जो पब्लिक नुमांइदे नहीं हैं. फिर भी वह चुने हुए लोगो से जबाब मांग रहे हैं.

‘जनमंच नहीं झंडमंच है’
Loading...

उन्होंने कहा कि यह जनमंच नहीं, जंडमंच कार्यक्रम है, जहां लोगों की समस्याओं सुलझाने के लताड़ा जाता है. किन्नौर में भाजपा सरकार लोकतंत्र का गला घोंट रही है जिसका विरोध कर हमने इस कार्यक्रम का बहिष्कार किया है.

ये बोली मंत्री
मंत्री सरवीण चौधरी ने बताया कि यह कुछ लोगों की आदत हो गई है कि जनमंच में अड़ंगा डाला जाए. किन्नौर में इससे पूर्व के जनमंच में भी इस तरह के उदाहरण सामने आए हैं. जनमंच में लोगों ने अपनी समस्याएं रखी है, जहाँ जनता संतुष्ट हुई है. किन्नौर के विधायक जगत सिंह का भाषा ठीक नहीं है. निगम के उपाध्यक्ष को इस तरह बकवास बंद करो, कहना अशोभनीय है.

(रिकॉन्ग पिओ से अरुण नेगी की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें: जीनत के मां-बाप ने किन्नर होने पर छोड़ा, उसने गोद ली बेटी...

कांगड़ा के लिए नीदरलैंड के साथ 800 करोड़ का हुआ एमओयू

अब घरेलू बाजार में मिलेंगे हिमाचली सेब को अच्छे दाम

NGT के नियमों को ताक पर रख रोहतांग पहुंच रही 4000 टैक्सियां

इस तालाब में राजा करते थे अठखेलियां, अब कीचड़ में तब्दील

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रिकांग पिओ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 17, 2019, 11:48 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...