होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /

VIDEO: हिमाचल में भारी बारिश, नाले में बाढ़ से किन्नर कैलाश यात्रा पर गए 100 श्रद्धालु रेस्क्यू किए

VIDEO: हिमाचल में भारी बारिश, नाले में बाढ़ से किन्नर कैलाश यात्रा पर गए 100 श्रद्धालु रेस्क्यू किए

किन्नर कैलाश यात्रा पर गए लगभग 100 से अधिक श्रद्धालुओं को खड्ड में जलस्तर बढ़ने के बाद रेस्क्यू किया गया.

किन्नर कैलाश यात्रा पर गए लगभग 100 से अधिक श्रद्धालुओं को खड्ड में जलस्तर बढ़ने के बाद रेस्क्यू किया गया.

Kinner Kailash Yatra: अधिकारिक तौर पर किन्नर कैलाश यात्रा 1 अगस्त से 15 अगस्त तक आयोजित की जा रही है और यहां बड़ी संख्या में किन्नर कैलाश के लिए श्रद्धालु जाते हैं. अमरनाथ यात्रा की तरह ही इस यात्रा को भी प्रशासन आयोजित करता है.

अरुण नेगी

रिकॉन्गपिओ (किन्नौर). हिमाचल प्रदेश में खराब मौसम लोगों की जान पर भारी पड़ रहा है. किन्नौर में किन्नर कैलाश यात्रा पर गए लगभग 100 से अधिक श्रद्धालुओं को खड्ड में जलस्तर बढ़ने के बाद रेस्क्यू किया गया है. श्रद्धालुओं को किन्नौर पुलिस की टीम ने रेस्क्यू किया है. रेस्क्यू ऑपरेशन के कुछ वीडियो भी सामने आए हैं, जिनमें देखा जा सकता है कि कैसे श्रद्धालुओं को रेस्क्यू किया जा रह है.

दरअसल, हिमाचल में बीते चौबीस घंटे में भारी बारिश हुई है. मंगलवार को भी प्रदेश में बादल छाए हुए हैं. किन्नौर जिले में किन्नर कैलाश यात्रा के रास्ते में आने वाली खड्ड का जलस्तर बढ़ गया था. अधिकारिक तौर पर किन्नर कैलाश यात्रा 1 अगस्त से 15 अगस्त तक आयोजित की जा रही है और यहां बड़ी संख्या में किन्नर कैलाश के लिए श्रद्धालु जाते हैं. अमरनाथ यात्रा की तरह ही इस यात्रा को भी प्रशासन आयोजित करता है.

चंबा में मणिमहेश यात्रा को लेकर अलर्ट

चंबा पुलिस के अनुसार, लगातार भारी बारिश की वज़ह से फ़िलहाल भरमौर की तरफ यात्रा करना सुरक्षित नहीं है. मणिमहेश यात्रा के श्रद्धालुओं से अनुरोध है कि चंबा या मैहला से आगे अभी यात्रा ना करें. जो यात्री चंबा पहुंच चुके है, वो चंबा या मैहला में विश्राम करें और प्रशासन के आदेश का इंतजार करें.

200 लोगों की गई जान

हिमाचल में बीते 48 दिन में मॉनसून सीजन में 200 लोगों की जान सड़क हादसों, बादल फटने, बाढ़, भूस्खलन इत्यादि से हो चुकी है. शिमला जिला में सबसे ज्यादा 34 लोगों की मृत्यु हो चुकी है, जबकि 377 लोग घायल हुए है. सात व्यक्ति लंबे समय से लापता चल रहे हैं. मानसून की भारी बारिश से 1003 करोड़ रुपए की सरकारी और निजी संपत्ति भी बरसात की भेंट चढ़ गई है। लोक निर्माण विभाग को सबसे ज्यादा 569 करोड़ की चपत मानसून सीजन में लग गई है. जल शक्ति विभाग को 409 करोड़ और बिजली बोर्ड को 68 लाख रुपए का नुकसान हो गया है.

Tags: Amarnath Yatra, Heavy Rainfall, Shimla Monsoon, Weather Alert

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर