भारत-चीन तनाव: हिमाचल तिब्बत सीमा पर गांव चारंग में 4 साल से लटका हेलीपेड का निर्माण

किन्नौर में चारंग गांव तिब्बत सीमा से महज 26 किमी दूर है.
किन्नौर में चारंग गांव तिब्बत सीमा से महज 26 किमी दूर है.

Helipad at Indo Tibet Border: 19 नवम्बर 2015 को पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष जगत सिंह ने आधारशिला रखी. उस के बाद वर्ष 2018 में बीएडीपी के तहत और 5 लाख की धनराशि स्वीकृत हुई. ऐसे में 2015 के बाद अब तक लोक निर्माण विभाग ने 30 लाख में से मात्र 8 लाख ही धनराशि खर्च पाई है.

  • Share this:
अरुण नेगी
रिकॉन्गपिओ. भारत-चीन तनाव (Indo China Tension) के बीच जहां केंद्र सरकार ने सामरिक महत्व और बॉर्डर के आसपास के निर्माण कार्य में तेजी लाने की कवायद शुरू की है. वहीं, हिमाचल प्रदेश के किन्नौर (Kinnaur) जिले में चीनी कब्जे तिब्बत (Tibet) और हिमाचल की सीमा पर एक हेलीपेड का निर्माण पांच साल से लटका है. इसके निर्माण में कांग्रेस (Congress) और भाजपा (BJP) सरकार ने कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई है. अब निर्माणकार्य के लटने पर सवाल उठाए जा रहे हैं.

क्या है मामला
हिमाचल में किन्नौर जिले में तिब्बत सीमा से मात्र 26 किलोमीटर पहले हिंदुस्तान का आखिरी गांव चारंग है. यहां पर सीमांत क्षेत्र विकास योजना (बीएडीपी) के तहत 30 लाख की लागत से हेलीपेड का निमार्ण होना है, जो कि पिछले पांच साल सेठंडे बस्ते में पड़ा है. सीमाओं की सुरक्षा की दृष्टि से महत्वपूर्ण हेलीपेड के निर्माण में देरी को लेकर लोक निर्माण विभाग के कार्य पर भी सवाल उठने लगी है.
क्या बोले प्रधान
गौर रहे कि तिब्बत सीमा के पास बसे गांव चारंग में बॉर्डर एरिया डेवलपमेट प्रोग्राम के तहत लोक निमार्ण विभाग को 25 लाख की धनराशि वर्ष 2014 में दी गई थी. 19 नवम्बर 2015 को पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष जगत सिंह ने आधारशिला रखी. उस के बाद वर्ष 2018 में बीएडीपी के तहत और 5 लाख की धनराशि स्वीकृत हुई. ऐसे में 2015 के बाद अब तक लोक निर्माण विभाग ने 30 लाख में से मात्र 8 लाख ही धनराशि खर्च पाई है.



किन्नौर जिले में चारंग गांव बॉर्डर से सटा हुआ है.


गांव चारंग के प्रधान ने मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि सीमांत क्षेत्र में सुरक्षा और पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण चारंग गांव में हेलीपेड का निर्माण विभाग की उदासीन के शिकार हो रहा है. पिछले करीब चार साल से हेलीपैड निर्माण का कार्य पूरी तरह से रुका हुआ है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज